सौभाग्य योजना से जरिए डीवीवीएनएल 18 लाख कनेक्शन

बिजली चोरी करने वालों पर होगी एफआईआर
आगरा। प्रदेश के घर-घर में बिजली पहुंचाने की योजना को अमलीजामा पहनाने में प्रदेश सरकार जुट गई है। केन्द्र सरकार ने इस योजना को मूर्त रूप देने के लिए 11 हजार करोड़ रुपये का भारी भरकम बजट भी दिया है। इससे अब 1.18 करोड़ कनेक्शन और बांटे जाने की योजना भी बनाई गई है। दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड को १८ लाख कनेक्शन देने का लक्ष्य भी निर्धारण किया गया है।
सौभाग्य योजना को राज्य सरकार ने वर्ष 2018 के अंत तक पूरा करने का लक्ष्य रखा है। दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड के एमडी इं.सुधीर वर्मा ने बताया कि सौभाग्य योजना की खुद मुख्य सचिव इसकी गहन मानीटरिंग कर रहे हैं। हर सप्ताह जिलाधिकारियों एवं अधीक्षण अभियन्ताओं के साथ वीडियो कांफ्रेन्सिग के जरिए योजना की प्रगति ली जा रही है। यह लक्ष्य पूरा होने तक यह चलता रहेगा। योजना में तेजी लाने के लिये अधीक्षण अभियन्ताओं को जिम्मेदारी भी तय की गई है।
जो बिना नियमित कनेक्शन के बिजली का उपयोग कर रहे हैं। इन घरों को भी मीटर के जरिए बिजली कनेक्शन देने का निर्देश दिया गया है। कुछ जगहों पर विरोध की सूचनाएं आ रही हैं। यदि लोगों ने अपने कनेक्शन नियमित नहीं कराए तो बिजली चोरी का मामला दर्ज कराया जाएगा। शीघ्र ही १८ लाख कनेक्शन दिए जाने का लक्ष्य निर्धारण किया गया है।
89 Views