ग्रामीण क्षेत्र से टोरंट पावर का अधिकार क्षेत्र खत्म हो-राम सहाय यादव

आगरा-  ग्रामीण क्षेत्र से शहरी दरों के अनुसार वसूले जा रहे बिल को लेकर परेशान ग्रामीणों ने टोरंट पावर की मनमर्जियां के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। टोरंट पावर के विरूद्ध धरने पर बैठे ग्रामीणों ने दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड से इन गांवो को पुन: सप्लाई देने की मांग की है।
सिकन्दरा स्थित दक्षिणांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (डीवीवीएनएल) के कार्यालय में पहुंचे ग्रामीणों का प्रतिनिधि मंडल ने तत्काल प्रभाव से टोरंट पावर को हटाने की मांग की है। समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष रामसहाय यादव के नेतृत्व में अपनी शिकायत को लेकर पहुंचे प्रतिनिधि मंडल ने एमडी (वित्त)  डीके सिंह से मुलाकात कर बमरौली कटारा फीडर को टोरंट पावर से मुक्त कराने की मांग की है। ग्रामीणों ने स्टाफ आफीसर शेष कुमार बघेल को शिकायती पत्र भी दिया है।
  • कुंआ खेड़ा में चल रहा है दस दिनों से धरना
  • टोरंट पावर ग्रामीणों से वसूल रहा मंहगी दरें
सपा जिलाध्यक्ष रामसहाय यादव ने टोरंट पावर को डीवीवीएनएल ने जब शहरी क्षेत्र को विद्युत आपूर्ति के लिए दिया है तो ग्रामीण क्षेत्रों में अपना अधिकार क्यों जमा रही है। ग्रामीणों से शहरी क्षेत्र की दरों से बिल वसूला जा रहा है। इसके विरोध में थाना ताजगंज के गांव कुंआ खेड़ा में विगत दो अक्टूबर गांधी जयन्ती के दिन से टोरंट के विरूद्ध धरना दिया जा रहा है। जिसमें किसी भी टोरंट पावर के अधिकारी ने ग्रामीणों की पीड़ा जानने की जहमत नही उठाई है।
वहीं मौके पर मौजूद महुआ खेड़ा के किसान नेता वीरेन्द्र यादव ने बताया कि  टोरंट के मनमर्जी के चलते किसानों ने खेती करना बंद कर दिया है। जब किसान ही खेती नहीं करेगा तो देशवासियों का पेट कैसे भरेगा। बमरौली कटारा फीडर के गांव मदरा, महुआ खेड़ा, कुंंआ खेड़ा, बुढ़ाना, करबना, तोरा, कलाल खेरिया, लकावली, श्यामौं, बुढ़ैरा, बमरौली कटारा आदि गांवो के ग्रामीण टोरंट की मार झेलने को मजबूर हैं। ग्रामीण विधान सभा के अध्यक्ष राजवीर लवालियां ने कहा कि ग्रामीणों के गांव के रहने वालों अधिकांशत: गरीब होते है जो भारी भरकम बिल चुकाने में असमर्थ हैं। प्रतिनिधि मंडल में चौब सिंह प्रधान, सुरेन्द्रया प्रधान, तेजपाल यादव प्रधान, महाराज सिंह, राधेश्याम यादव, उदयवीर सिंह प्रधान, शक्ति यादव प्रधान, रंजीत यादव, जयकिशन प्रधान, पप्पू यादव, रामधन राजपूत, साहब सिंह यादव, संदीप यादव, दयाशंकर सिंह, ओमप्रकाश, देवेन्द्र यादव, भगवती प्रसाद यादव, जितेन्द्र यादव आदि ग्रामीण मौजूद रहे। 
26 Views