डॉ मानिकचंद जाटव वीर की 121वीं शोभायात्रा धूमधाम से निकाली

आगरा-  समाज के सम्मान के लिए जीवन भर संघर्षरत रहे विशाल हृदय निर्भीक सामाजिक आंदोलन के महान योद्धा पूर्व सांसद डॉ. मानिक चन्द्र जाटववीर जी की 121वी जयंती,दिनांक 11/11/ 2018 को आगरा में 11वी बार भव्य शोभायात्रा निकाली गई यह शोभायात्रा प्रातः10 बजे डॉ. मानिक चन्द्र जाटववीर की मूर्ती पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्वलित कर  प्रारम्भ होकर, जगदीशपुरा, बोदला चौराहा,मारुति स्टेट चौराहा, प्रेमनगर, रामनगर की पुलिया, प्रकाश नगर, भोगीपुरा, साकेत कॉलोनी, नगला गंगा राम से लोहामंडी चौराहा होकर नौबस्ता होती हुई धर्मोदय बुद्ध विहार, आनंद नगर, खतैना पर सायं पहुंची।

शोभायात्रा में शामिल समाज के गणमान्य नागरिक

शोभा यात्रा में दर्जनभर से अधिक झांकियां सम्मिलित हुई  प्रत्येक झांकी पर समाज में जागरूक करने के संदेश लिखे हुए थे  झांकियों में  मुख्य रूप से समाज को दिशा एवं दशा देने के बारे में संदेश अधिक थे ।

वहीं झांकियों में संसद भवन  का चित्र  और अन्य महापुरुषों की फोटो भी लगाए गए जैसे –  डॉ बाबासाहेब आंबेडकर, स्वामी विवेकानन्द , ज्योतिबा राव फूले, कांशीराम, मायावती आदि । शोभायात्रा के आगे  सर्वप्रथम मानिकचंद जाटव वीर की झांकी और उसके बाद विभिन्न महापुरूषों की झांकिया थी| झांकिया के आगे समाज के गणमान्य नागरिक पैदल-पैदल चल रहे थे । जिसमें प्रमुख रूप से  शांति प्रसाद सम्राट , गोपाल कौशल , एडवोकेट राजकुमार सिंह , एड, एम् चंद्रा ,राकेश बाबू  मुकेश सेहरा , राकेश कुमार, ओमप्रकाश , बृजेश कुमार अंबेश देवेंद्र सिंह, डॉ वीर सिंह जगरवाल, डॉ रामेश्वर दयाल, डॉ दिलीप, श्रीमती राजकुमारी श्रीमती चंद्रावती, अनिल भिंडरवाला आदि उपस्थिति थे। शोभायात्रा समापन के अवसर पर समाज को लोगों को सम्मानित किया गया  और सभी ने  मिलकर एक स्वर में कहा कि ऐसे महापुरुष का नाम ऊंचा रखने के लिए हमें उनके नाम को जोर-शोर से प्रचारित करना चाहिए ।  जहां-जहाँ सरकारी दस्तावेजों में जाटव शब्द को लिखा जाता है कम से कम वहाँ पर तो दादा साहेब की मूर्तियां उनके नाम से शिक्षण संस्थान , चिकित्सालय आदि खोले जाएं जिससे उन्हें हमेशा याद रखा जा सके इसलिए ऐसे महापुरुष की शोभायात्रा निकालना एक गौरव का काम है।

113 Views