दो दिवसीय हडताल के पहले दिन उमडा कर्मचारी मजदूरो का सैलाब

हाथरस-पुरानी पेंशन बहाली, न्यूनतम वेतन 26 हजार एवं स्कीम वर्कस, मानदेय संविदा पर कार्यरत आंगनबाडियों आशाओं, रसोइयों मनरेगा कर्मियेां व अन्य मानदेय संविदा, आउटसोर्सिंग  आदि अन्य समस्त कर्मचारियों को न्यूनतम वेतन 18 हजार रूपया प्रतिमाह दिये जाने व इन्हें राज्य कर्मचारी घोषित किये जाने व कर्मचारियों से छीने जारी चिकित्सा प्रतिपूर्ति भत्ते को तत्काल पूर्व की भाॅति किया जाने की माॅगों को लेकर विकास भवन पर जनसैलाव उमड़ पड़ा ।
सभा को सम्बोधित करते हुये जिलाध्यक्ष रामकुमार गोस्वामी ने कहा कि समय आ गया है कि केन्द्र व प्रदेश की सरकारें या तो कर्मचारी मजदूरों की माॅगों को तत्काल पूरा करें अन्यथा की स्थिति में 2019 के लोकसभा चुनावों में कर्मचारी मजदूर उन्हें सत्ता से दूर कर देगा।
फैडरेशन अध्यक्ष टीकाराम पाल ने अध्यक्षता करते हुये कहा कि हडताल के दौरान विभिन्न कार्योलयों में छापेमारी करने से कर्मचारी आन्दोलन कम होने के बजाय और तीव्र ही होता जायेगा।
व्रिष्ठ उपाध्यक्ष रवेन्द्र सिंह यादव ने कहा कि जनपद की समस्त बैंक, बिजली विभाग, आयकर विभाग, चिकित्सा विभाग, सिंचाई विभाग सहित विकास भवन के 18 कार्यालयों में पूर्णतः तालाबन्दी के साथ कार्य बहिष्कार सफलता के परचम चूम रहा है। आंगनबाडी संघ की जिलाध्यक्ष मीना संैगर ने कहा कि आंगनबाडी संघ महासंघ के साथ खडा होकर संघर्ष कर रहा है जीत सुनिश्चित है।
आंगनबाडी संघ की जिला संयोजिका आशा दीक्षित ने कहा कि अब तक हम अलग-अलग संघर्ष कर रहे थे अब एक मंच पर आये हैं संघर्ष और पूरी मजबूती से होगा। आशा बहू संघ की जिलाध्यक्ष लतेश कुमारी एवं प्रदेश सचिव गिरजेश कुमारी ने आशा बहुओं का आव्हान करते हुये कहा कि संघर्ष में अपनी संख्याबल को और बढायें जिससे संघर्ष और बडा हो सके।
विकास भवन के अध्यक्ष इन्द्रमोहन गौड ने कार्यक्रम का सफल संचालन करते हुये विकास भवन की पूर्ण भागेदारी की घोषणा करते हुये सरकार को चेताया। सिचाई संघ के राजेन्द्र ने कहा कि सिंचाई संघ पूर्णतः हडताल पर है और रहेगा। पशुपालन विभाग के राकेश पाठक द्वारा संघ को अपने विभाग से पूर्ण समर्थन की घोषणा करते हुये सरकार को कर्मचारी मजदूूरों की माॅगों को पूरा करने हेतु चेताया। ग्राम पंचायत सफाई कर्मचारी संघ के अध्यक्ष वारिस अन्सारी व मण्डलीय मंत्री बौबी हसन द्वारा अपने साथियों के साथ विशाल संख्या मंे भागेदारी करते हुये महांसघ को कर्मचारी हितों के लडने वाला एकमात्र संगठन कहा।
ग्राम पंचायती राज संघ के प्रदेश सचिव बद्रीलाल चैहान द्वारा सरकार को खुली चुनौती देते हुये कहा गया कि अब भी समय है पुरानी पेंशन के बारे में सरकार सोच ले। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष रमेश चन्द्र द्वारा कहा गया कि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के अधिकतर अधिकारों का सरकार द्वारा हनन कर दिया गया है शासनादेशों को पुर्नजीवित करते हुये लागू कराया जाये।

महासंघ के जिला मंत्री महावीर सिंह द्वारा संख्याबल से गदगद होकर सभी का आभार व्यक्त करते हुये कहा कि तुम हमें ताकत दो माॅगे पूरी महासंघ करादेगा । बैठक में हजारों की संख्या में कर्मचारी मजदूर उपस्थित थे । कल (आज) दिनांक 09.01.2019 को सभी कर्मचारी मजदूर विकास भवन हाथरस पर ही प्रातः 10 बजे उपस्थित होगें ।