Breaking News
Home / ताजा खबर / मॉब लिंचिंग यह प्रवृत्ति हमारे देश की परंपरा नहीं है – संघ प्रमुख मोहन भागवत

मॉब लिंचिंग यह प्रवृत्ति हमारे देश की परंपरा नहीं है – संघ प्रमुख मोहन भागवत

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ  ने विजयदशमी  के मौके पर मंगलवार को अपना स्थापना दिवस मनाया| इस अवसर पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत  ने नागपुर स्थित संघ मुख्यालय में शस्त्र पूजा की| फिर स्वयंसेवकों ने पथ संचलन किया| स्वयंसेवकों को संबोधित करते हुए आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या) की घटनाओं का जिक्र किया|  भागवत ने कहा कि लिंचिंग जैसी घटनाओं से संघ का कोई लेना-देना नहीं है मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर मोहन भागवत ने कहा, ‘भीड़ हत्या (लिंचिंग) पश्चिमी तरीका है और देश को बदनाम करने के लिए भारत के संदर्भ में इसका इस्तेमाल नहीं किया जाना चाहिए भागवत ने कहा, ‘ऐसी घटनाओं को रोकना हर किसी की जिम्मेदारी है|  कानून व्यवस्था की सीमा का उल्लंघन कर हिंसा की प्रवृत्ति समाज में परस्पर संबंधों को नष्ट कर अपना प्रताप दिखाती है|

यह प्रवृत्ति हमारे देश की परंपरा नहीं है, न ही हमारे संविधान में यह है| कितना भी मतभेद हो, कानून और संविधान की मर्यादा में रहें|  न्याय व्यवस्था में चलना पड़ेगा देश में अब अच्छा हो रहा है|  कार्यक्रम में भागवत ने मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि बहुत दिनों बाद देश में कुछ अच्छा हो रहा है| देश की सुरक्षा पहले से ज्यादा बढ़ी है वहीं, जम्मू-कश्मीर का जिक्र करते हुए आरएसएस प्रमुख ने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर में संविधान के अनुच्छेद 370 को हटाकर मोदी सरकार ने साबित किया कि वो इस तरह के कठोर फैसले लेने में सक्षम है| उन्होंने कहा कि हमारा देश पहले से ज्यादा सुरक्षित है| जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना बड़ा कदम है. चंद्रयान-2 ने विश्व में भारत का मान बढ़ाया है इस दौरान संघ प्रमुख ने अन्य राजनीतिक दलों पर निशाना भी साधा| उन्होंने कहा कि देश में बहुत कुछ अच्छा हो रहा है| लेकिन, अफसोस कि कुछ लोगों को ये बदलाव पसंद नहीं आ रहा है| फोटो इंटरनेट

About

x

Check Also

लाइसेंस, हेलमेट के न होने पर नहीं मिलेगी स्कूल में एंट्री – आप्टा

+10 खबर – शशि शर्मा आगरा – प्रोग्रेसिव टीचर्स एसोसिएशन के द्वारा नो लाइसेंस नो ...