Breaking News
Home / राष्ट्रीय / शिक्षा की गुणवत्ता कों बढ़ाने के लिये छात्रों की रूचि को समझना होगा- महामहिम राज्यपाल 

शिक्षा की गुणवत्ता कों बढ़ाने के लिये छात्रों की रूचि को समझना होगा- महामहिम राज्यपाल 

महामहिम राज्यपाल  आनन्दीवेन पटेल  ने आज डॉ0 भीमराव आंबेड़कर विश्व विद्यालय के 85 वें दीक्षात समारोह की अध्यक्षता करते हुये अपने उद्वोदन में  कहा कि 92 वर्ष पूराने इस विश्व विद्यालय का अपना अलग इतिहास रहा है। इस विश्व विद्यालय ने देश को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री जैसी महान विभूतियां दी हैं। जिनमें पण्डित शंकर दयाल शर्मा, अटल बिहारी वाजपेयी व चौधरी चरण सिंह का नाम अग्रणी है।
उन्हांने कहा कि आज बेटियां समाज के हर क्षेत्र में लगातार आगे बढ़ रही हैं उन्हें स्वस्थ बनाने के लिये उनके स्वास्थ्य की देखभाल भी होनी चाहिये जब बेटियां स्वस्थ्य होगी तो समाज स्वस्थ्य होगा इसके लिये समय समय पर विद्यालय में कैम्प लगाकर उनकी खून की जॉच सहित अन्य जॉच करायी जाये जिससे वह स्वस्थ्य व शसक्त हो सके। उन्होंने कहा की आज बालिका दिवस है और इस अवसर पर छात्राओ की खून की जॉच करायी गयी जिसमें 22 प्रतिशत् छात्राओं में हिमोग्लोबिन कम पाया गया। जो चिन्ता का विषय है उन्होंने कहा की जब हम शसक्त व स्वस्थ बेटियां समाज में देगें तो समाज स्वत ही स्वस्थ और शसक्त बनेगा। आज हम कुपोषण से जूझ रहे हैं इस की मुक्ती के लिये सरकार नयी-नयी योजनायें भी संचालित कर रही है। इस में   जब हम सभी लोग मिलकर अपना योगदान देगें तो बेटियां स्वस्थ और शसक्त बनेगी तभी समाज से कुपोषण जैसी बीमारी से निजात मिल सकेंगी। उन्होंने कहा कि आज इस कार्यक्रम में जो मेडल दिये गये हैं उनमें 80 प्रतिशत् बेटियां ही आगे हैं  इस लिये इन्हें और बढ़ावा दिया जये उन्होंने सभी से आवाहन किया कि वह कुपोषण और टी0वी0 जैसी बीमारी से लड़ने के लिये आगे आये जिससे इनको समाप्त किया जा सके।
उप मुख्यमंत्री उ0प्र0 श्री दिनेश शर्मा ने अपने मुख्य अथितीय भाषण में कहा कि आगरा विश्व विद्यालय का नाम 1995 में परिवर्तित करते हुये डा0 बाबा भीम राव अम्बेडकर हुआ। अम्बेडकर जी प्रखर सोच के कारण ही इस का नाम परिवर्तित हुआ था। उन्होंने कहा कि आज इस विश्व विद्यालय से लगभग एक हजार विद्यालय सम्बद्ध हैं जिनके माध्यम से लगभग पांच लाख छात्र/छात्रायें शिक्षा गृहण कर रही हैं।
उक्त अवसर पर कुलपति डा0 अरविन्द कुमार दीक्षित ने विद्यालय द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किये जा रहे कार्यों को पटल पर रखा और अपेक्षा की कि विश्व विद्यालय आगे भी इसी तरह लगातार शिक्षण कार्य में ऊचाईयों को प्राप्त करेंगा और शिक्षा प्राप्त करके यहां से निकलने वाले छात्र/छात्रायें जनपद व प्रदेश/देश का नाम रोशन करेगें ।

About

x

Check Also

वारिश के पानी में डूबी फरह की सड़क, दुकानों में घुसा पानी

+10 खबर – सुभाष चंद्र फरह | शनिवार को हुई झमाझम वारिश ने फरह की ...