Breaking News
Home / पॉलिटिक्स / उद्धव ठाकरे बने महाराष्ट्र के 19वें मुख्यमंत्री, शिवाजी पार्क में ली शपथ

उद्धव ठाकरे बने महाराष्ट्र के 19वें मुख्यमंत्री, शिवाजी पार्क में ली शपथ

महाराष्ट्र की सियासत के इतिहास में पहली बार ठाकरे परिवार के किसी सदस्य ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण की। गुरुवार शाम 6.40 बजे शिवाजी पार्क में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे का राज तिलक किया गया। उद्धव महाराष्ट्र के 19वें मुख्यमंत्री बने हैं। उद्धव, ‘ठाकरे खानदान’ से पहले और शिवसेना से तीसरे शख्स है जिन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ की। उद्धव ठाकरे के साथ तीनों ही पार्टियों के दो-दो नेताओं ने भी शपथ ग्रहण की। महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने सभी को शपथ ग्रहण कराई।

शिवसेना की ओर से सुभाष देसाई और एकनाथ शिंदे, एनसीपी से जयंत पाटिल और छगन भुजबल, कांग्रेस की ओर से बालासाहेब थोराट और नितिन राउत ने शपथ ग्रहण की। बता दें कि विधानसभा चुनाव में 56 सीटें जीतने वाली शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने साथ मिलकर इस सरकार का गठन किया है। हालांकि इसके बावजूद शपथ ग्रहण कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी शामिल नहीं हुए। दोनों ने उद्धव ठाकरे को पत्र लिखकर कार्यक्रम में शामिल होने में असमर्थता जताई।

समारोह में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ, कपिल सिब्बल, केटीएस तुलसी, एमके स्टालिन, एसके शिंदे, संजय राउत और पृथ्वीराज चव्हाण, मनसे नेता और उद्धव के चचेरे भाई राज ठाकरे शामिल हुए। कारोबारी मुकेश अंबानी और उनकी पत्नी नीता अंबानी भी समारोह में शामिल हुए। इसके आलावा पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस भी शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने पहुंचे।

  • अशोक चव्हाण की जगह नितिन राउत लेंगे मंत्री पद की शपथ पथ
  • महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे आज शाम उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होंगे।
  • उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण समारोह में आमंत्रित किए गए DMK के अध्यक्ष एमके स्टालिन मुंबई पहुंचे

ANI

@ANI

Maharashtra: DMK president MK Stalin arrives in Mumbai. He will attend the swearing-in ceremony of the new government of the state, led by Shiv Sena chief and ‘Maha Vikas Aghadi’ Uddhav Thackeray as the Chief Minister, today.

Embedded video

79 people are talking about this
  • जयंत पाटील, बाला साहेब थोराट, एकनाथ शिंदे करेंगे साझा प्रेस कांफ्रेंस। शपथ से पहले शाम 4 बजे कॉमन मिनिमम प्रोग्राम का ऐलान।
  • शिवसेना की तरफ से मंत्री बनने वाले सुभाष देसाई का कहना है कि तीनों पार्टियों का सीएमपी तैयार है, किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं है। उन्होंने कहा कि दो कॉर्डिनेशन कमेटी बनाई जाएंगी, एक कैबिनेट के मसले को संभालेगी और दूसरी अन्य बातों को।
  • शपथ ग्रहण से पहले इस बात की अटकलें जोर पर चल रही हैं कि अजित पवार अपना फोन स्विच ऑफ कर लिया है। इन अटकलों पर एनसीपी नेता ने कहा कि ऐसा नहीं हुआ है, उन्होंने कुछ देर के लिए फोन इसलिए बंद किया था क्योंकि वह लगातार आ रही फोनकॉल को इग्नोर करना चाहते हैं।

ANI

@ANI

NCP spokesperson, on reports that Ajit Pawar has switched off his mobile phone: Ajit Pawar (in file pic) has not gone incommunicado, he has intentionally switched off his mobile phone to avoid frequent calls. He will attend the swearing-in ceremony.

View image on Twitter
70 people are talking about this
  • महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष बालासाहेब थोरात ने कहा कि मुझे नहीं पता कि आज कितने मंत्री शपथ लेगें, लेकिन मुख्यमंत्री और तीनों दलों के कुछ मंत्री इस समारोह में शपथ लेंगे। उन्होंन कहा कि बालासाहेब और इंदिरा गांधी के बीच अच्छे संबंध थे। जब भी जरूरत होती थी वे एक-दूसरे के साथ खड़े होते थे। 

ANI

@ANI

Balasaheb Thorat, Maharashtra Congress president: Balasaheb (Bal Thackeray) and Indira ji had good relations. He had supported Indira ji. Whenever it was needed they stood by each other. https://twitter.com/ANI/status/1199920719598997504 

ANI

@ANI

Balasaheb Thorat, Maharashtra Congress president: I don’t know how many ministers will take oath today but Chief Minister and a few ministers from the three parties (Congress-NCP-Shiv Sena) will take oath at the ceremony. #Maharashtra

View image on Twitter
66 people are talking about this
  • शिवाजी पार्क में स्थित शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे के समाधि स्थल को सजाया गया। इसी पार्क में उनके बेटे उद्धव ठाकरे आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। 

ANI

@ANI

Mumbai: ‘Bal Thackeray Samadhi’ in Shivaji Park has been decorated, ahead of the swearing-in ceremony of Shiv Sena chief and ‘Maha Vikas Aghadi’ leader Uddhav Thackeray, as the Chief Minister of today.

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
34 people are talking about this
  • शिवसेना नेता संजय राउत ने अजित पवार को डिप्टी सीएम बनाए जाने के सवाल पर कहा कि मुझे नहीं पता, यह एनसीपी का मामला है। शरद पवार महा विकास अघडी के वरिष्ठ नेता है। अजित को या उनकी पार्टी में किसी को क्या पद मिलना चाहिए, यह उनके द्वारा तय किया जाएगा।

ANI

@ANI

S Raut, Shiv Sena on being asked if Ajit Pawar will be made Deputy CM: I don’t know, it is NCP’s matter. Sharad Pawar is senior-most leader of ‘Maha Vikas Aghadi'(Shiv Sena-Congress-NCP), what post should be given to Ajit Pawar or someone else in his party, will be decided by him

View image on Twitter
70 people are talking about this
  • How is Josh?

Sanjay Raut

@rautsanjay61

How is Josh?
जय महाराष्ट्र

10.4K people are talking about this
  • शिवाजी पार्क के बाहर उद्धव ठाकरे के पोस्टर

ANI

@ANI

Mumbai: Hoardings welcoming the new government in and party flags of Shiv Sena & Congress seen on the stretch from Dadar TT to Shivaji Park. The new state govt, led by Shiv Sena chief & ‘Maha Vikas Aghadi’ leader Uddhav Thackeray as the CM, will be sworn in today.

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
73 people are talking about this
  • एनसीपी प्रमुख शरद पवार के घर के बाहर का दृश्य

ANI

@ANI

Mumbai: The new government of , led by Shiv Sena chief and ‘Maha Vikas Aghadi’ leader Uddhav Thackeray as the Chief Minister, will be sworn in today; visuals from outside Silver Oak (residence of NCP Chief Sharad Pawar).

View image on TwitterView image on Twitter
24 people are talking about this
  • शिवाजी पार्क का ये है प्लान

  • मुंबई के शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण की तैयारियां 

ANI

@ANI

Mumbai: Preparations underway at Shivaji Park for the swearing-in ceremony of Uddhav Thackeray as the Chief Minister of today.

View image on TwitterView image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter
39 people are talking about this
  • शिवसेना भवन के पास लगया गया बाला साहेब ठाकरे और इंदिरा गांधी की तस्वीर वाला पोस्टर
48 people are talking about this

विधानसभा चुनाव में किसको कितनी सीटें

  • कुल सीटें- 288
  • बीजेपी-105
  • शिवसेना-56
  • एनसीपी-54
  • कांग्रेस-44
  • अन्य- 29

 

कमेंट करें
lpCne

ट ऑयल
पिछले महीने के कई घटनाक्रमों के चलते ब्रेंट ऑयल की कीमतें अपने निचले स्तर पर पहुंच चुकी हैं। यह ज्यादातर वैश्विक मांग की कमी पर आधारित है, लेकिन यह युआन में बदलाव से भी प्रभावित हुआ था क्योंकि चीन के कई तेल आयात युआन में करने पर विचार किया जा रहा है। सउदी ने तब से घोषणा की है कि वे ओपेक के अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे ताकि एक डील के तहत उत्पादन में कटौती कर कीमतों को वापस ऊपर लाया जा सके। जैसा कि आप नीचे दिए गए चार्ट से देख सकते हैं, उत्पादन में कटौती के जिक्र से ही मार्केट में ऊपर जाते ट्रेंड्स देखने को मिलने लगते हैं। $ 55 अमरीकी डालर प्रति बैरल मूल्य होते ही ओपेक हमेशा हरकत में आता है और कई ठोस कदम उठाता है जिससे कीमतों को बढ़ाया जा सके। ट्रेडर्स इस अवसर का फायदा उठा सकते हैं। इस साल यह मूल्य रेंज $ 65 – $ 70 USD हो सकती है। ओलिंप ट्रेड ऐसे ही खास अवसर और मौकों को भूनाने का अवसर देता अपने ट्रेडर्स को जिससे वे तेल कीमतें ऊपर जाकर स्थिर होने से पहले अधिक लाभ कमा सकें।

 

3. तेल आधारित मुद्राएँ
विदेशी मुद्रा बाजारों में एक दूसरे पर निर्भर करने वाली वस्तुओं में मुद्रा और तेल हैं। इसमें भी तेल के साथ सबसे करीबी संबंध रूसी रूबल का है। चूंकि रूबल कई साल पहले मुक्त मुद्रा बन गया था इसलिए डॉलर/ रूबल और यूरो / रूबल मुद्रा जोड़े तेल की कीमत के साथ घटते और बढ़ते देखे गए हैं। रूसी सेंट्रल बैंक 62 से 65 रूबल प्रति डॉलर का मूल्य रखना पसंद करता है, ऐसे में तेल की कीमतों में किसी भी महत्वपूर्ण गिरावट से 65 से ऊपर की संख्या जाने पर रूसी उत्पादक ओपेक से संपर्क साधना शुरू कर देते हैं ताकि कीमतों को वापस अपने स्थान पर लाया जा सके। हालांकि ऑयल कार्टेल का आधिकारिक सदस्य रूस नहीं है पर यह समूह द्वारा निर्धारित उत्पादन कोटा के साथ अक्सर सहयोग करता है। स्क्रीनशॉट में आप 65 रूबल स्तर पर प्रतिरोध और 63 स्तर पर समर्थन देख सकते हैं। इसका लाभ उठाने के इच्छुक व्यापारी ऑप्शन ट्रेडिंग का उपयोग कर सकते हैं। इस मुद्रा जोड़ी पर कुछ अच्छा मुनाफा कमाने के लिए ब्रेंट ऑयल की कीमत में बदलाव का फायदा उठाया जा सकता है।

 

4. बिटकॉइन
बिटकॉइन अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है हालांकि कुछ लोगों ने इस साल की शुरुआत में ऐसी भविष्यवाणी की थी। यह अब कुछ महीनों से बढ़त की ओर है। युआन की गिरावट भी एक कारण है कि लोग डॉलर के विकल्प के रूप में बिटकॉइन को  देख रहे हैं। हालांकि यह विश्वास करना कठिन है कि बिटकॉइन इस साल अप्रैल में $ 4,000 पर था और अभी हाल ही में $ 12,000 पर जाकर रुका। ब्लॉकचैन मुद्रा में वृद्धि, थोड़ी गिरावट, और फिर फिर से वृद्धि की प्रवृत्ति दिखाई देती है। बिटकॉइन में ट्रेड के लिए दो चीजें महत्वपूर्ण हैं- विकल्प और फोरेक्स। इसी कारण ऐसे ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म की सलाह दी जाती है जो दोनों का उपयोग करता है। पर यह देखने वाली बात है कि अधिकतर क्रिप्टो एक्सचेंजों में दोनों ऑप्शन्स नहीं मिलते हैं। पर इसमें ओलिंप ट्रेड जैसे ब्रोकर एक बेहतर विकल्प हैं जो दोनों सुविधाएँ देते हैं।

5. अमेरिकी डॉलर कैनेडियन डॉलर (USD / CAD) के मुकाबले
यूएस डॉलर के मुकाबले कनाडाई डॉलर के दो महीने के ठोस लाभ के बाद ट्रेंड्स विपरीत हो गए हैं। अमेरिकी और कनाडाई सरकारों के आर्थिक आंकड़ों के आधार पर यह बदलाव निकट भविष्य के लिए नया मानदंड होगा। यूएस डॉलर अपने हुए शुरुआती नुकसान की भरपाई संभवत: अगले कई हफ्तों कर लेगा। इससे निवेशकों को अच्छा लाभ होने की उम्मीद है। इसी कारण कनाडाई डॉलर के निवेशक जब अपने स्टॉक बेचना शुरू करेंगे तो यह डॉलर के मजबूती के ट्रेंड को और आगे ले जाएगा।

दोनों सरकारों से आने वाली आर्थिक समाचारों को ध्यान में रखने की आवश्यकता होती है। इसके अलावा त्रैमासिक रिपोर्ट्स न आने से भी निवेशक लंबी अवधि के निवेश में लाभ कमा सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि अमेरिका, मैक्सिको और कनाडा के बीच होने वाले ट्रेड एग्रीमेंट्स पर खान नजर रखी जाए। निवेशक इस मुद्रा जोड़ी से कमाई का लाभ टाइमजोन्स के जरिए भी ले सकते हैं। ऐसे में जरूरी है कि एक ऐसे प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल किया जाए जो सभी मार्केट्स में निवेश की सुविधा उपलब्ध कराता हो। बाजार की समझ, वित्त से जुड़ी खबरे और बाजार कैसे काम करता है यदि इन कुछ चीजों की जानकारी आपके पास होती है तो आप अच्छे निवेशकर बन अधिक लाभ ले सकते हैं। – 

About

x

Check Also

भाजपा का बाह विधान सभा का वर्चुअल सम्मेलन सम्पन्न,उप मुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा मुख्य वक्ता रहे

00 आगरा  भारतीय जनता पार्टी के विधानसभा सम्मेलनों में आज चौथे दिन भी आत्मनिर्भर भारत ...