Breaking News
Home / अंतर्राष्ट्रीय / बोगनविल दुनिया का सबसे नया देश बनने की ओर

बोगनविल दुनिया का सबसे नया देश बनने की ओर

प्रशांत महासागर में स्थित द्वीप बोगनविल पापुआ न्यूगिनी (पीएनजी) का हिस्सा है। पीएनजी से अलग होने को लेकर बोगनविल में 23 सितंबर से वोटिंग हो रही थी। बुधवार को आए नतीजे में यहां के लोगों ने पीएनजी से आजाद होने के समर्थन में भारी मतदान किया। लिहाजा बोगनविल दुनिया का सबसे नया देश बनने जा रहा है।

बोगनविले रेफरेंडम (जनमत संग्रह) कमीशन के अध्यक्ष बर्टी अहर्न ने बुका (बोगनविल की राजधानी) में घोषणा की कि 1,81,067 में से 98% लोगों ने (1,76,928) आजादी के समर्थन में वोट दिया, जबकि विरोध में 3,043 लोगों ने मतदान किया। अहर्न ने सभी पक्षों से नतीजे को मानने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह वोट आपकी शांति, आपके इतिहास और आपके भविष्य को लेकर है। यह हथियारों पर कलम की ताकत को दिखाता है।

  • 1,81,067 में से 98% लोगों ने पापुआ न्यूगिनी से आजादी के समर्थन में वोट दिया
  • केवल 3,043 लोगों ने पापुआ न्यूगिनी के साथ रहने के लिए मतदान किया
  • जनमत संग्रह को पापुआ न्यूगिनी के संसद में पेश किया जाना है, जहां इसका विरोध भी हो सकता है

रेफरेंडम को पीएनजी की संसद में भी पेश किया जाना है

इस रेफरेंडम को पापुआ न्यूगिनी के संसद में पेश किया जाना है, जहां इसका विरोध भी किया जा सकता है। हालांकि, बड़े स्तर पर लोगों ने आजादी का समर्थन किया है, जिससे पोर्ट मोर्सबी (पापुआ न्यूगिनी की राजधानी) पर दबाव बना रहेगा।

फ्रांसीसी खोजकर्ता के नाम पर बोगनविल नाम पड़ा

  • बोगनविल पापुआ न्यूगिनी का एक प्रांत है।
  • यहां के लोग खद को पीएनजी से स्वतंत्र मानते हैं।
  • इसका नाम 18वीं शताब्दी के फ्रांसीसी खोजकर्ता के नाम पर रखा गया।
  • पीएनजी के 1975 में ऑस्ट्रेलिया से आजाद होने से पहले ही बोगनविल की आजादी की घोषणा हुई।
  • पीएनजी और ऑस्ट्रेलिया ने बोगनविल कभी आजाद नहीं माना।
  • यह वोटिंग 2001 के शांति समझौते का एक हिस्सा है।

Read More

About

x

Check Also

नागरिकता संशोधन बिल राज्यसभा में भी पास

00 नागरिकता संशोधन बिल को राज्यसभा ने भी मंजूरी दे दी। विधेयक के पक्ष में ...