Breaking News
Home / आगरा / युद्ध में सिंदूरो का दान कौन करेगा, अपने सपनो का अनुदान कौन करेगा-कवि पदम गौतम

युद्ध में सिंदूरो का दान कौन करेगा, अपने सपनो का अनुदान कौन करेगा-कवि पदम गौतम

आगरा : दयालबाग स्थित बीएल फार्म हॉउस पर प्रतिभा भारती संस्था की ओर से  शनिवार को जश्न-ए-पोइट्री कवि सम्मलेन व उत्कृष्ट सेवा सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष गिर्राज सिंह कुशवाह, विशिष्ठ अतिथि एसडीएम खेरागढ़ अमरीश कुमार बिन्द तथा कराटे इंडिया के निर्देशक इंजी० राजेश राजपूत ने माँ सरस्वती के समक्ष दीप प्रवज्जलित कर किया। दो चरणों आयोजित हुए कार्यकम में पहले चरण में कवि सम्मलेन में प्रख्यात कवियों ने अपनी रचनाओं से श्रोताओ को सराबोर किया तो दूसरे चरण में सम्मान समारोह शहर की समाजसेवी शख्शियतों को सम्मानित किया गया ।

इन प्रमुख कवियों ने काव्य पाठ किया जिसका श्रोताओं ने भरपूर आनन्द उठाया

  • कवियत्री यश चन्द्रिका – “अँधियारा चिर कर रौशनी दिख गयी है, ये गजल तेरे दिल की जिंदगी लिख गयी है, ऐसी आहट से आये आप जीवन में मेरे, जहाँ की हर ख़ुशी मेरे घर पर टिक गयी।
  • अंतराष्ट्रीय कवि शिव सागर शर्मा – “आलिंगन को व्याकुल है चारो मीनारे ताज की, दो बाहें शाहजहां की है, दो बाहें है मुमताज की..”
  • कवियत्री डॉ० प्रभा गुप्ता -“मुठ्ठी में बंद किया भी तो क्या रेत बस अहसास रहा कुछ बंद है पर धीरे-धीरे सब कुछ सरकता रहा और शेष रहा शुन्य…”
  • कवि एलेश अवस्थी -“सुनना चाहती थी दर्द देहरी को बटने का मगर पंचो ने मुँह खुलने से पहले डाँट दिया मां, सुबह की खींचरी उसकी, शाम का भात तू देगा, जो दोनों भाइयो में आधी-आधी बाँट दिया मां..
  • कवि पदम गौतम – “युद्ध में सिंदूरो का दान कौन करेगा, अपने सपनो का अनुदान कौन करेगा, सेना की क़ुरबारी पर अगर प्रश्न उठाये देश पर लालो को बलिदान कौन करेगा…
  • कवियत्री रीता शर्मा – “कैद पिंजरे की नहीं थी मुझे तेरी नज़रो की थी...”

कार्यक्रम सयोजक महेश वर्मा ने बताया कि संस्था की ओर से जश्न-ए-पोइट्री के मंच पर अंतराष्ट्रीय कवियों के साथ नवीन कवियों को मंच साझा करने का अवसर दिया गया है ताकि दबी हुई प्रतिभा को बेहतर मंच और वरिष्ठ कवियों का सानिध्य मिल सके । इस अवसर पर प्रमुख रूप से अमित सिंह, डॉ० यशोधरा यादव, विवेक यादव, धर्मेंद्र सिंह आदि मौजूद रहे ।

 

इनको मिला उत्कृष्ट सेवा सम्मान 

साहित्य श्रृंगार सम्मान शिव सागर शर्मा, साहित्य प्रेरणा सम्मान डॉ० प्रभा गुप्ता, साहित्य वीणा सम्मान रीता शर्मा, साहित्य सृजन सम्मान एलेश अवस्थी व पदम गौतम, चिकित्सा के क्षेत्र से डॉ० अजीत चाहर, डॉ० स्निग्धा सिंह, डॉ० सीमा सिंह, डॉ० हरेंद्र मोहनिया तथा मारिया शालिनी जैकब, शिक्षा के क्षेत्र से डॉ० हिर्देश चौधरी व रितु गोयल, कुशल मंच सञ्चालन के क्षेत्र से श्रुति सिन्हा, विधिक के क्षेत्र से एड० ब्रज मोहन उपाध्याय, समाजसेवा के क्षेत्र से डॉ० प्रीति चाहर, दीप्ति भार्गव एवं अरविन्द तौमर

 

About

x

Check Also

जिनके पास टीवी नहीं, उनको जागरूक करने लिए सहारा बनीं दीवारें जानें कैसे ?

+60 वॉल पेंटिंग्स से विहिप कर रहा गरीब तबके को कोरोना वायरस के संक्रमण से ...