Breaking News
Home / आगरा / संकटकाल के बीच फैक्ट्री में लगी आग मची अफरा- तफरी

संकटकाल के बीच फैक्ट्री में लगी आग मची अफरा- तफरी

अवधेश यादव की रिपोर्ट

आगरा उत्तर प्रदेश में जिस तरह कोरोना संकट के बीच आपराधिक गतिविधियों में इजाफा हो रहा है वैसे ही आगजनी की घटनाएं लगातार सामने आ रही हैं। ताजा मामला थाना एत्माद्दौला के अंतर्गत नुनिहाई क्षेत्र में स्थित लॉक डाउन में चल रही रोमसन्स फैक्ट्री 164 के बेसमेंट मैं सुबह लगभग 10:00 बजे लगी आग कोई हताश नहीं लाखों का माल जलकर हुआ राख फैक्ट्री मालिक बताने को नहीं तैयार थाना एत्माद्दौला इलाके में शुक्रवार उस वक्त अफरा-तफरी का माहौल हो गया जब रोमसंस में आग लग गई आग लगने से क्षेत्र में हड़कंप मच गया इसकी सूचना आनन-फानन में वहां के लोगों और फैक्ट्री संचालक ने स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग को दी सूचना के आधार पर तत्काल प्रभाव से स्थानीय पुलिस और दमकल विभाग की गाड़ियां मौके पर पहुंची और कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका हालांकि इस दौरान कोई नहीं हुआ हताश फैक्ट्री में रखा लाखों का माल जलकर हुआ राख लॉक डाउनलोड मैं थाना एत्माद्दौला के नुनिहाई मैं स्थित रोमसंस फैक्ट्री में सर्जिकल सामान तैयार किया जाता है प्राप्त जानकारी के अनुसार फैक्ट्री पूर्ण रुप से बाहर से तालाबंदी कर बंद थी अंदर सर्जिकल सामान बन रहा था वही शासनादेश को ठेंगा दिखाकर फैक्ट्री मालिक अंदर मजदूरों से कार्य करा रहा था वहीं दबी जुबान से लोगों का कहना है कि,आग लगने के बाद फेक्ट्री मालिक ने लेबर को चुपचाप निकाला और सूचना देने पर फेक्ट्री से निकालने की बात कही जिसके चलते फेक्ट्री कुछ वर्कर सच बताने से हुए भयभीत,आग लगने का कारण स्पष्ट नही हो सका, रोमसंस फैक्ट्री के संचालक विकास खन्ना ने बताया कि लॉक डाउन में प्रशासन की अनुमति पर यहां सर्जिकल सामान तैयार किया जा रहा है ताकि मेडिकल से संबंधित सामान की आपूर्ति में समस्या ना आए इस वक्त फैक्ट्री में 8: या 10 कर्मचारी ही काम कर रहे हैं अचानक ही उन्हें फैक्ट्री के बेसमेंट में आग लगने की जानकारी हुई उन्होंने तुरंत फायर ब्रिगेड को फोन किया आग पर काबू कर लिया है और किसी की भी जनहानि नहीं हुई है वही फैक्ट्री में हुए आग से हुए नुकसान पर चुप्पी साध ली वहीं दूसरी तरफ नाम ना छापने की शर्त पर फैक्ट्री कर्मचारियों का कहना है कि फैक्ट्री में आग लगने के दौरान 100 से ऊपर कर्मचारी मौजूद थे फैक्ट्री संचालक ने साफ़ कह रखा है अगर आप काम करने नहीं आओगे तो आपको वेतन भी नहीं मिलेगा और नौकरी से निकाल दिया जाएगा लॉक डाउन के चलते पहले से ही परेशान कर्मचारी और मजदूरों के लिए फैक्ट्री संचालक का यह आदेश बड़ी समस्या बन गया है जिसके चलते फैक्ट्री जाने को मजबूर है वही आपको यह भी अवगत करा दें कि कर्मचारियों का यह भी कहना है कि रोमसंस की 5 यूनिट थाना एत्माद्दौला क्षेत्र में स्थित है फैक्ट्री संचालक के मुताबिक प्रशासन की परमिशन फैक्ट्री के लिए है ऐसे में यह जांच का विषय हो सकता है की परमिशन की आड़ में सभी फैक्ट्रियों संचालित हो और लॉक डाउन में भी सैकड़ों मजदूर कर्मचारियों से काम लिया जा रहा हो।

फोटो इंटरनेट

About

x

Check Also

पत्रकार पर फर्जी मुकदमे को लेकर लगाई न्याय की गुहार

00 उ0प्र0 संयुक्तत पत्रकार समिति के पदाधिकारियों ने आईजी से की मुलाकात मामले की गंभीरता ...