Breaking News
Home / धर्म संस्क्रति / घर-घर पूजे गए नाग देवता मनाई नाग पंचमी पिलाया दूध लोगों में भारी उत्साह

घर-घर पूजे गए नाग देवता मनाई नाग पंचमी पिलाया दूध लोगों में भारी उत्साह

अवधेश यादव की रिपोर्ट

आगरा श्रावण शुक्ल पंचमी को नाग पंचमी पर्व के रूप में मनाया जाता है इस बार यह त्योहार शनिवार के दिन मनाया गया घरों में महिलाएं व पुरुषों ने भगवान शिव के नागौ की पूजा अर्चना कर दूध पिलाया मंगल गीतों की गूंज घरों में सुनाई दी नागों के इस त्योहार पर शहरवासियों में एक नया उत्साह देखने को मिला अधिकांश मंदिरों में लॉकडाउन के चलते सन्नाटा पसरा रहा अधिकांश मंदिरों के सामने ही भक्त कटोरो में दूध रख कर चले गए सनातन परंपरा में पशुओं की भी पूजने की परंपरा है वही शहर ब देहात में शनिवार को नाग पंचमी मनाई गई। मंदिरों के अलावा विभिन्न जगहों पर हुए कार्यक्रम में भगवान शिवजी से संबंधित नागों की पूजा की गई। ताजगंज मेंगंगा मंदिर सिकरवार मंदिर बिलोचपुरा के आसपास सुबह से शिव भक्त नागों को दूध पिलाने के लिए पहुंचे। दूध दिलाने के साथ-साथ श्रद्धालुओं ने माथा टेक कर सुख समृद्धि की कामना की गई। नीरू यादव रेनू यीशु आशीष यादव और संजना ने बताया कि नाग पूजा उसके पूवर्ज मनाते आ रहे हैं। ऐसी मान्यता है कि आज के दिन सृष्टिकर्ता ब्रह्मा ने अपने प्रसाद से शेषनाग को विभूषित किया था। नागपंचमी के दिन शहर व देहात के लोग सुबह-सुबह उठे और घरों में पूजन के लिए सेंवई-चावल बनाए गए। श्रद्धालुओं ने सुबह के बाद पूरा दिन घरों में खाना नहीं बनाया है और सुबह बनाए गए भोजन को ही अपनी-अपनी मान्यता के चलते ग्रहण किया गया। लेकिन सुबह से ही छावनी के विभिन्न जगहों पर श्रद्धालुओं की भीड़ लगी रहीं। मंदिरों के बाहर सपेरे नाग देवता को लेकर बैठे रहें और नागों को दूध पिलाने के साथ-साथ माथा टेक कर सुख-समृद्धि की कामना की गई।

About

x

Check Also

क्यों मनाते है नाग पंचमी ? कैसे उठाएं सभी राशि वाले इसका लाभ एवं क्या है पूजन विधि?

00 क्यों मनाते है नाग पंचमी- हिन्दुओं का एक प्रमुख त्योहार है। हिन्दू पंचांग के अनुसार ...