February 28, 2021
कैरियर

अब युवाओं की नौकरी में आड़े आ रही यूनिवर्सिटी

अंकतालिका सत्यापन के लिए परेशान बीएड छात्र, शनिवार को पूरे दिन परीक्षा नियंत्रक को घेरे रहे विद्यार्थी
आगरा। डा. भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय के सत्र 2013 के विद्यार्थी परेशान हैं। वे विश्वविद्यालय में अपनी अंकतालिका सत्यापन के लिए चक्कर लगा रहे हैं, किंतु उनकी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। शनिवार को विश्वविद्यालय बंद होने तक सत्र 2013 के विद्यार्थियों का जमघट परीक्षा नियंत्रक के कार्यालय में लगा रहा किंतु उनकी समस्या का निवारण नहीं हो सका। देर शाम तक यह विद्यार्थी परीक्षा नियंत्रक तथा कुलपति सचिवालय के चक्कर लगा रहे थे।
शासन द्वारा शिक्षक की घोषणा की गई है। शिक्षक भर्ती में आवेदन के लिए बीएड की अंकतालिका का विश्वविद्यालय से सत्यापन कराना जरूरी है। हालांकि यह नियम पहले नहीं था किंतु पिछले कुछ सालों में फर्जी शिक्षकों का मामला सामना आने पर शासन द्वारा अंकतालिका का सत्यापन अनिवार्य कर दिया गया। ऐसे सैकड़ों विद्यार्थी शनिवार को सुबह ही विश्वविद्यालय पहुंच गए। अंकतालिका सत्यापन कराने के लिए इन विद्यार्थियों ने आवेदन भी  कर दिया। सत्यापन के बाद जो सूचना इन विद्यार्थियों को मिली, उससे उनके होश उड़ गए। कुछ विद्यार्थी जिनके पास पास की अंकतालिका थी उन्हें फेल करार दिया गया था। ऐसे सभी  विद्यार्थी एकत्रित होकर परीक्षा नियंत्रक के कार्यालय पहुंच गए तथा उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया। गौरतलब है कि वर्ष 2013 की बीएड परीक्षा का मूल्यांकन विवादों मे रहा था। यही सत्र एक मात्र ऐसा सत्र था जहां दो बार मूल्यांकन कराया गया। पहली बार जो मूल्यांकन हुआ, उसमें गड़बड़ी पायी गई। इसलिए दूसरी बार मूल्यांकन कराया गया। उस समय विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग में जो लिपिक बीएड देख रहे थे, आज वे किसी अन्य विभाग में हैं। इसलिए सत्यापन के लिए अंकतालिका में गड़बड़ियां हो रही है। कई बार जानबूझ कर गड़बड़ी की जाती है ताकि छात्र थक-हार तक सीधा विभाग में ही संपर्क करे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *