November 26, 2020
राष्ट्रीय

देश में पहली बार है इतनी भीषण मंदी

मुंबई। कोरोना की शुरुआत के साथ ही केंद्र सरकार इसे रोकने की नीयत से देश में लॉकडाउन की घोषणा कर दी। इससे कोरोना पर तो बहुत हद तक ब्रेक लग गया लेकिन भारत  की अर्थव्यवस्था पर व्यापक असर पड़ा। हालांकि अनलॉक शुरू होने के बाद धीरे-धीरे देश की अर्थव्यवस्था में सुधार होता दिखाई दे रहा है। इस बीच भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने देश की जीडीपी के घटने को लेकर आगाह किया है। आरबीआई ने कहा है कि देश पहली बार इतनी भीषण मंदी के दौर में घिरा है। आरबीआई की इस घोषणा से लोगों में थोड़ी सी घबराहट है।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के एक अधिकारी ने कहा कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में देश का सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) एक साल पहले की तुलना में 8.6 प्रतिशत घटने का अनुमान है। इस तरह लगातार दो तिमाहियों में जीडीपी घटने के साथ देश पहली बार मंदी में घिरा है। कोविड-19 महामारी और लॉकडाउन के असर से पहली तिमाही में माइनस 23.9 प्रतिशत नीचे खिसक गई थी। दूसरी तिमाही के जीडीपी के सरकारी आंकड़े अभी नहीं आए हैं पर केंद्रीय बैंक के शोधकर्ताओं ने तात्कालिक पूर्वानुमान विधि का प्रयोग करते हुए अनुमान लगाया है कि सितंबर की तिमाही में गिरावट 8.6 प्रतिशत तक रहेगी।

आरबीआई ने भी मान- अर्थव्यवस्था में गिरावट की आशंका, गतिविधियों में हो रहे सुधार से स्थिति जल्द सामान्य होने का भी भरोसा

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *