February 26, 2021
आगरा कैरियर राष्ट्रीय शिक्षा

सीबीएसई के प्रैक्टिल एग्जाम नए बदलावों के साथ होंगे

  • प्रोजेक्ट से लेकर इंटरनल असेसमेंट तक को लेकर बोर्ड ने जारी किए नए निर्देश
  • स्कूलों को भेजा सर्कुलर, एक मार्च से 11 जून तक पूरी की जाएंगी प्रयोगात्मक परीक्षाएं

सीबीएसई की प्रयोगात्मक परीक्षा एक मार्च से शुरू होनी है। बोर्ड ने इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। स्कूलों को सर्कुलर भेजा गया है और वेबसाइट पर भी जानकारी अपलोड कर दी गई है। तमाम बदलावों के साथ इस बार बोर्ड एग्जाम की प्रयोगात्मक परीक्षाएं होनी हैं। प्रोजेक्ट से लेकर इंटरनल असेसमेंट तक में बदलाव किया गया है।

कोरोनाकाल में इस बार सीबीएसई की बोर्ड परीक्षाएं चार मई से शुरू हो रही है। एक मार्च से प्रैक्टिल एग्जाम होने हैं। बोर्ड की ओर से 11 जून तक कक्षा दस और 12 तक के सभी प्रैक्टिकल एग्जाम पूरे करने के निर्देश हैं। इनमें प्रोजेक्ट, इंटरनल असेसमेंट भी शामिल हैं। बोर्ड की ओर से तमाम बदलाव किए गए हैं, जिनकी विस्तृत जानकारी उन्होंने अपनी वेबसाइट पर अपलोड कर दी है।

सीबीएसई की ओर से जारी हुए निर्देशों के तहत इन परीक्षाओं के दौरान हर स्कूल को कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना होगा। अगर 25 विद्यार्थियों का बैच है तो उन्हें दो छोटे ग्रुप में बांटकर परीक्षा ली जाएगी। प्रैक्टिकल सिर्फ बोर्ड द्वारा नियुक्त परीक्षक ही लेंगे।

अगर स्कूल किसी और शिक्षक से यह परीक्षा करवाते हैं तो उसे रद्द करते हुए वहां के विद्यार्थियों को थ्योरी परीक्षा में मिले अंकों के आधार पर औसत अंक दे दिए जाएंगे। स्कूल की मान्यता रद्द करने के साथ ही वहां के प्रधानाचार्य के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

अंक अपलोड करने में बरतें सावधानी
इस बार बोर्ड की ओर से प्रैक्टिकल परीक्षाओं को लेकर बड़ा बदलाव किया गया है। परीक्षाएं खत्म होने के तुरंत बाद बोर्ड की वेबसाइट पर दिए गए लिंक के जरिए स्कूलों को सभी विद्यार्थियों के अंक अपलोड करने होंगे। अंक अपलोड करते समय खास ध्यान रखना होगा क्योंकि इसमें सुधार की कोई गुंजाइश नहीं होगी। एक बार नंबर अपलोड करने के बाद दूसरा मौका नहीं मिलेगा।

11 जून तक अपलोड करें इंटरनल के अंक
विद्यार्थियों को प्रैक्टिकल और इंटरनल असेसमेंट्स अपने स्कूल में ही देना है। हर स्कूल में इसके लिए बाहरी परीक्षक के साथ-साथ आंतरिक परीक्षक भी मौजूद होंगे। इन परीक्षाओं की निगरानी के लिए बोर्ड द्वारा एक ऑब्जर्वर भी नियुक्त किए जाएंगे। स्कूलों को एक मार्च से 11 जून के बीच इंटर्नल के अंक अपलोड करने होंगे। 11 जून के बाद इसकी अनुमति नहीं होगी। न ही इस अंतिम तारीख को आगे बढ़ाया जाएगा। इस संबंध में बोर्ड की ओर से ऑनलाइन निर्देश जारी हो गए हैं। स्कूलों को भी जानकारी प्रेषित कर दी गई है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *