March 2, 2021
अंतर्राष्ट्रीय

चीन के परमाणु बॉम्बर्स ने की घुसपैठ, ताईवान भी एक्शन में

दोनों देशों के बीच तनाव अब काफी बढ़ रहा

चीन ने एक बार फिर ताइवान के वायुक्षेत्र में अपने 8 एच-6 के परमाणु बॉम्बर्स को उड़ाया है। जिसके बाद ऐक्शन में आए ताइवान ने भी अपनी मिसाइलों का मुंह चीन के बॉम्बर्स की तरफ कर दिया। तनाव बढ़ता देख चीन ने जहाज तुरंत ही ताइवान की वायुसीमा के बाहर भाग गए। बताया जा रहा है कि अमेरिकी राजनयिक की ताइवान यात्रा से चीन भड़का हुआ है। इस कारण दोनों देशों के बीच तनाव एक बार फिर बढ़ता हुआ दिखाई दे रहा है।

ताइवानी रक्षा मंत्रालय ने कहा कि शनिवार को आठ एच-6के चीनी बमवर्षक विमानों और चार लड़ाकू विमानों ने ताइवान के वायु रक्षा पहचान क्षेत्र के दक्षिण-पश्चिमी कोने में प्रवेश किया। जिसके बाद ताइवान ने अपनी मिसाइलों को मॉनिटर करने के लिए तैनात किया। आठ परमाणु हमला करने में सक्षम एच-6के और चार जे-16 लड़ाकू विमानों की घुसपैठ को ताइवान ने भी असामान्य करार दिया है।

आम तौर पर चीन अक्सर टोही विमानों या एक या दो एच-6के विमानों को ही ताइवानी सीमा में भेजता है। ताइवान के रक्षा मंत्रालय द्वारा उपलब्ध कराए गए एक नक्शे से पता चला है कि वाई -8 पनडुब्बी रोधी विमान ने भी प्रतास द्वीप के पास ताइवानी एयरस्पेस में घुसने का प्रयास किया था। हालांकि, ये सभी विमान ताइवान के मुख्य भूभाग से काफी दूर से ही खदेड़ दिए गए।

मंत्रालय ने कहा, ताइवान की वायु सेना ने चीनी विमानों को चेतावनी दी है और उनकी निगरानी के लिए मिसाइलों को तैनात किया है। घुसपैठ की जानकारी मिलते ही एयरबोर्न अलर्ट के स्तर को भी बढ़ा दिया गया। रेडियो चेतावनियां जारी की गईं और हवाई रक्षा मिसाइल सिस्टम को इस गतिविधि पर नजर रखने के लिए तैनात किया गया। हालांकि, चीन की ओर से तत्काल कोई टिप्पणी नहीं की गई। चीन का ऌ-6ङ विमान बेहद खतरनाक है। यह विमान परमाणु हमला करने में भी सक्षम है। इसमें तेजी से उड़ने वाले ड्रोन से लेकर एंटी शिप मिसाइलों को ले जाने के लिए बनाया गया है। यह विमान क्रूज मिसाइलें भी दागने में सक्षम है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *