March 2, 2021
अंतर्राष्ट्रीय पॉलिटिक्स राष्ट्रीय

ईरानी जनरल सुलेमानी से भी जुड़ रहे हैं तार!

  • इस्राइली दूतावास के बाहर विस्फोट का मामला
  • आतंकी संगठन अल कायदा भी है शक के घेरे में

इस्राइली दूतावास के पास ब्लास्ट में जो मटीरियल इस्तेमाल हुआ, उसकी तीव्रता 30 मीटर के दायरे तक बेहद घातक थी। अगर ऐसे में वहां कोई होता तो जान भी जा सकती थी। फोरेंसिक टीम ने वहां से काफी स्टील की बॉल बेयरिंग, वायर डिवाइस व पाउडर बरामद किए हैं। धमाके के फौरन बाद रोहिणी की फोरेंसिक लैब से फोरेंसिक एक्सपर्ट की टीम वहां पहुंची और वहां से जो नमूने कलेक्ट किए, उन्हें ‘वीरा’ (ह्विकल एक्जामिनेशन एंड एक्सप्लोसिव रिसिड्यू एनालिसिस सेंटर) ले जाया गया है। जांच सूत्रों का कहना है कि इसकी जल्द रिपोर्ट जांच एजेंसियों को सौंपी जाएगी। विस्फोट स्थल से कागज का पुलिंदा भी मिला है, जो इस्राइली एंबेसी के नाम से था। इसमें लिखा गया- ‘यह तो अभी एक ट्रेलर है।’ इस्राइल के राजदूत को सम्बोधित इस चिट्ठी में ईरान के जनरल कासिम सुलेमानी का भी जिक्र किया गया है, जिनकी पिछले साल तीन जनवरी को इराक में बगदाद एयरपोर्ट के पास ड्रोन हमले में हत्या कर दी गई थी। इसी वजह से पुलिस ईरानी कनेक्शन को ध्यान में रख जांच आगे बढ़ा रही है। जिसके चलते दिल्ली के सभी होटलों से एक महीने में ईरान से आए नागरिकों के बारे में जानकारी मांगी गई है। इस धमाके को लेकर स्पेशल सेल एक्सप्लोसिव एक्ट के तहत केस दर्ज कर जांच में लगी है। वहीं, दूसरी तरफ खतरा अभी टला नहीं है। सतर्कता के लिए सभी संवेदनशील इलाकों, धार्मिक स्थलों, खासकर इस्राइली नागरिकों की सुरक्षा बढ़ाई गई है। पुलिस व सुरक्षा एजेंसियां आतंकी संगठन अल कायदा को भी शक के दायरे में रख रही हैं। गणतंत्र दिवस से पूर्व 23 जनवरी को अल कायदा ने ईमेल कर हमला करने की धमकी दी थी। इसको लेकर आईबी ने सुरक्षा अलर्ट भी जारी किया था। इस्राइल को धमकी देते हुए अल कायदा ने कहा था कि यरूशलम कभी भी यहूदियों का नहीं हो सकता, इस पर मुसलमानों का हक है। इसको लेकर अल कायदा ने इस्राइल समेत विश्व के कई देशों पर हमला करने की धमकी दी थी।

फोरेंसिक टीम से जुड़े सूत्रों का कहना है कि जिस जगह विस्फोटक रखा गया, वहां करीब सात इंच गहरा बड़ा कटोरानुमा गड्ढा हुआ है। मारक क्षमता इतनी थी कि वहां से 25 मीटर और 26 मीटर दूरी पर खड़ी दो कारों के शीशे चकनाचूर हो गए। कार के अंदर भी बॉल बेयरिंग मिली थीं। विस्फोटक केमिकल का कंपोजिशन देखा जाएगा। असलियत केमिकल टेस्ट के बाद ही पता चल सकेगी। फिलहाल फोरेंसिक टीम को धमाके में अमोनियम नाइट्रेट के इस्तेमाल के संकेत मिले हैं। साथ ही पीईटीएन से भी इनकार नहीं किया जा रहा। पुलिस को घटनास्थल के पास पिंक कलर का अधजला दुपट्टा भी मिला था। पास ही वायर टाइप डिवाइस मिली। सूत्रों के मुताबिक, स्पेशल सेल कैब ड्राइवर के लगातार संपर्क में है और संदिग्धों का हुलिया जानकर स्केच बनाने की तैयारी में है। इस्राइली दूतावास के पास ब्राजील का भी दूतावास है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *