March 3, 2021
उत्तर प्रदेश कारोबार राष्ट्रीय

एमएसएमई को 15571 करोड़ के अतिरिक्त ऋण

खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में शोध परियोजनाओं के लिए पोर्टल शुरू

बैंकों ने कोरोना वायरस महामारी से प्रभावित व्यवसायों की मदद करने के लिये आपातकालीन ऋण सुविधा गारंटी योजना के दूसरे संस्करण (ईसीएलजीएस 2.0) के तहत सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उपक्रमों (एमएसएमई) को 15,571 करोड़ रुपये के अतिरिक्त ऋण का आवंटन किया है। वित्त मंत्रालय ने इसकी जानकारी दी। इस बीच केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली ने खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में अनुसंधान परियोजनाओं के लिये बुधवार को एक आरएंडडी पोर्टल का अनावरण किया।

वित्त मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा कि सरकार ने सरकार ने एमएसएमई को वित्तीय सहायता के लिये ईसीएलजीएस 1.0 को और संकट से जूझ रहे क्षेत्रों की मदद के लिये ईसीएलजीएस 2.0 की शुरूआत की। मंत्रालय ने कहा कि 2,772 कर्जदारों के लिये अतिरिक्त 15,571 करोड़ रुपये के कर्ज आवंटित किये गये, जबकि 1,188 कर्जदारों को 3,344 करोड़ रुपये के कर्ज वितरित किये गये। यह आंकड़ा आठ जनवरी तक का है और 12 सरकारी बैंकों, 24 शीर्ष निजी बैंकों तथा 31 एनबीएफसी से प्राप्त जानकारियों पर आधारित है।

खाद्य प्रसंस्करण मंत्रालय की एक आधिकारिक विज्ञप्ति में कहा गया कि लगभग 200 अनुसंधान परियोजनाएं पोर्टल पर उपलब्ध हैं। राज्य मंत्री तेली ने कहा कि पोर्टल की शुरूआत से उत्पाद और प्रक्रिया प्रौद्योगिकियों को विकसित करने, खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में बेहतर पैकेजिंग और मूल्य संवर्धन में मदद मिलेगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *