March 5, 2021
Trending आगरा पॉलिटिक्स

किसान नेता पहरे में, ट्रैक्टरों को डीजल नहीं

  • यूपी के किसानों को दिल्ली न पहुंचने देने की तैयारी
  • प्रशासन ने हाईवे और एक्सप्रेस वे पर तैनात कर दिए पुलिस बल
  • किसानों को ट्रैक्टरों संग गांव से ही न निकलने देने की रणनीति

कृषि बिलों को वापस लिए जाने की मांग को लेकर दिल्ली में 26 जनवरी को निकाली जाने वाली ट्रैक्टर परेड की भले ही पुलिस ने अनुमति दे दी हो पर यूपी में तो ऐसे इंतजाम किए जा रहे हैं कि यहां के किसान ट्रैक्टरों के साथ दिल्ली तक पहुंच ही न सकें। किसान नेताओं पर पुलिस का पहरा है तो पेट्रोल पंपों से किसानों को उनके ट्रैक्टरों में डीजल नहीं दिया जा रहा। कुर्ता-पाजामे में दिखने वाले किसी भी व्यक्ति को किसान मानकर रोकने के इंतजाम कर लिए गए हैं। यह स्थिति समूचे उत्तर प्रदेश में है। आगरा की बात करें तो यहां के किसान दिल्ली कूच पर आमादा हैं। इसी क्रम में वे आज जिले में आमंत्रण रैली निकाल रहे हैं।
केंद्र सरकार और किसानों के बीच 11वें दौर की वार्ता के बाद भी सहमति न बन पाने के बाद किसान संगठन 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड निकालने पर अड़ गए हैं। पंजाब व हरियाणा के किसान तो रोके नहीं रुक रहे। शायद केंद्र की कोशिश है कि यूपी से ज्यादा किसान दिल्ली न आएं। यूपी में भाजपा की सरकार है। हाल में देखा गया है कि कुछ पेट्रोल पंपों की मशीनों पर लिख दिया गया है कि बोतल के साथ ही ट्रैक्टर में डीजल नहीं मिलेगा। यह लिखा देखकर हर किसी की माथा ठनका। समझ आ गया कि यह किसानों को दिल्ली पहुंचने से रोकने की कोशिश है। हालांकि ट्रैक्टरों को डीजल न देने का कोई लिखित आदेश नहीं है। केवल मौखिक आदेश से ऐसा किया जा रहा है।
आगरा प्रशासन ने तो किसान नेताओं की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए उनके घरों पर पहरा बिठा दिया है। कोशिश यह है कि वे घर से बाहर जाएं ही नहीं। दिल्ली की ओर जाने वाले सभी मार्गों पर भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती भी यही संकेत कर रही है कि सरकारी अमला किसानों की राह में बाधा खड़ी करने की पूरी तैयारी कर चुका है। यमुना एक्सप्रेस वे पर जाने वाले सभी मार्गों पर पुलिस बल तैनात कर लगातार चेकिंग की जा रही है। शनिवार को बाह, पिनाहट, खेरागढ़, सैयां, जगनेर आदि इलाकों से ट्रैक्टर से दिल्ली के लिए निकले किसानों को रोक दिया गया। किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने कहा कि पुलिस और प्रशासन दिल्ली चाहे जितने भी प्रयास कर ले, किसानों को दिल्ली जाने से नहीं रोक पाएगा। किसान गांवों के रास्ते भरतपुर में प्रवेश कर दिल्ली जाएंगे।

धोती-कुर्ता वालों को रोका

दिल्ली की ओर जाने वाले सरकारी व प्राइवेट वाहनों की लगातार चेकिंग की जा रही है। वाहनों में सवार कोई धोती-कुर्ता या कुर्ता-पाजामा में नजर आता है तो उसकी पूरी कुंडली खंगाल ली जाती है। 

आज आमंत्रण यात्रा

26 जनवरी को दिल्ली में आयोजित ट्रैक्टर परेड में किसानों को परेड में शामिल होने का आमंत्रण देने के लिए किरावली में आमंत्रण यात्रा निकाली जा रही है। यह विभिन्न गांवों में होकर अछनेरा तक जाएगी। यात्रा का नेतृत्व बनै सिंह पहलवान, दिलीप चौधरी, श्याम सिंह चाहर, कप्तान सिंह चाहर, नरेश सिकरवार, राकेश सोलंकी करेंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *