March 6, 2021
अन्य क्राइम मनोरंजन

‘गंदी बात’ की गहना गिरफ्तार

  • पॉर्न फिल्मों के रैकेट का खुलासा
  • जांच के तार बॉलीवुड तक पहुंच रहे हैं
  • कुछ और मॉडल्स पर भी पुलिस की नजर

पॉर्न फिल्में बनाने के आरोप में मुंबई क्राइम ब्रांच ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया था। उनसे पूछताछ में कुछ नई जानकारियां सामने आने के बाद आज तड़के एक एक्ट्रेस-मॉडल गहना वशिष्ठ को भी गिरफ्तार कर लिया गया। आरोप है कि गहना ने 85 से ज्यादा पॉर्न फिल्मों की शूटिंग की और उसे अपनी वेबसाइट्स पर अपलोड किया। गहना वशिष्ठ वेब सीरीज ‘गंदी बात’ की लीड रोल में थीं। यह वेब सीरीज काफी लोकप्रिय हुई थी। इसके साथ ही गहना ने कई टीवी सीरियल्स भी बनवाए थे। वह एक प्रोडक्शन हाउस भी चलाती हैं।

एक अधिकारी ने बताया कि हमारी जांच में कुछ और मॉडल्स के नाम के नाम सामने आए हैं। हमने उनसे संपर्क किया है। क्राइम ब्रांच की जांच के तार बॉलीवुड तक भी जा रहे हैं। इस अधिकारी के अनुसार, कोरोना के पीक दौर में जब बॉलीवुड की टीवी धारावाहिकों की शूटिंग बंद थी, उस दौर में पॉर्न फिल्मों की शूटिंग चालू थी। यह सारी शूटिंग मलाड के मड आइलैंड में बंद कुछ बंगलों में होती थीं। उस दौर में पुलिस का पूरा फोकस कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सरकार और पब्लिक की मदद करना था। इसलिए बंगलों के अंदर क्या चल रहा था, पुलिस का इस तरफ ध्यान ही नहीं गया। आरोपियों ने उसी का फायदा उठाया।

आरोपियों ने खुद के कई ऐप्स भी बना रखे थे, जिसके लाखों कस्टमर थे। इनमें से एक ऐप ‘हॉटहिट मूवीज’ नाम से था। इन ऐप्स में आरोपी अपनी पॉर्न फिल्मों को अपलोड करते थे। इन ऐप्स को ओपन करने से पहले कस्टमर को बाकायदा सब्सक्रिप्शन फीस देनी पड़ती थी। रकम भरने के बाद ही लोग इन ऐप्स में पॉर्न फिल्में देख सकते थे। गहना वशिष्ठ के बारे में पता चला है कि उसकी आम लोगों के लिए सब्सक्रिप्शन फीस 2000 रुपये महीने थी।

इस मामले में एक दिन पहले जिन पांच आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था, उनमें रोया खान उर्फ यास्मीन नामक महिला इस रैकेट की मुख्य सरगना थी। उससे पूछताछ में पता चला कि उसने 50 से ज्यादा पॉर्न फिल्में बनाई हैं। वह पेशे से फोटोग्राफर है।

गिरफ्तार दूसरी महिला प्रतिभा नलावडे पॉर्न फिल्मों की प्रोडक्शन इंचार्ज भी है और ग्राफिक डिजायनर भी। क्राइम ब्रांच ने जिन तीन पुरुषों को गिरफ्तार किया है, उनमें मोनू जोशी कैमरामैन और लाइटमैन का काम करता था, जबकि भानु ठाकुर और मोहम्मद नासिर नामक आरोपियों को एक्टिंग का काम दिया गया था। जो अभिनेत्रियां इनके साथ पॉर्न फिल्में करती थीं, जांच टीम ने उन्हें आरोपी नहीं, रेसक्यू दिखाया है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *