March 6, 2021
आगरा आम मुददे क्राइम लाइफ स्टाइल

हनी ट्रैप: आप न फंस जाना

  • अनजान नंबर या एफबी प्रोफाइल से आई एक कॉल दे सकती है आपको जीवन भर का दंश
  • अश्लील हरकतें और उत्तेजक बातों के जाल में फंसे ताजनगरी के कई लोग, विशेषज्ञों पर पहुंचे

अनजान नंबर या फेसबुक प्रोफाइल से की आई एक कॉल आपको जीवन भर का दंश दे सकती है। अश्लील वीडियो कॉल के जाल में फंसे तमाम लोगों ने न केवल अपनी इज्जत गंवाई बल्कि पैसे से भी हाथ धो लिए। आगरा में साइबर सेल के पास भी तमाम ऐसी शिकायतें सामने आई हैं, जब अश्लील वीडियो चैट को रिकॉर्ड कर उन्हें ब्लैकमेल किया गया। हाल में ही एक हनी ट्रैप गैंग मेरठ में पकड़ा गया, जिसके तार तार आगरा और बरेली से जुड़े हुए थे।

दरअसल आपके मोबाइल पर किसी अनजान नंबर से व्हॉट्सएप या फेसबुक मैसेंजर से एक वीडियो कॉल आता है। आप उसे उठा लेते हैं तो दूसरी ओर से युवती अश्लील हरकतें करती हुई नजर आती है। फिर अचानक ही फोन कट जाता है। यह एक ट्रैप होता है, किसी भी व्यक्ति को फंसाने के लिए। जो लोग समझदार होते हैं, इस तरह की कॉल को इग्नोर कर देते हैं। हालांकि तमाम लोग इस जाल में फंस जाते हैं और अपनी तरफ से वीडियो कॉल कर लेते हैं।

फिर शुरु होता है वीडियो कॉल रिकॉर्डिंग का सिलसिला। अश्लील हरकतें और उत्तेजक बातें करके युवती सामने वाले को अर्धनग्न या पूरा नग्न करा देती है। इस व्यक्ति को पता ही नहीं चलता कि उसकी यह वीडियो कॉल रिकॉर्ड हो रही है। बाद में इसी रिकॉर्डिंग को सार्वजनिक करने की धमकी देकर उसे ब्लैकमेल किया जाता हैं। मेरठ में कुछ समय पूर्व एक गैंग पुलिस की गिरफ्त में आया था। जिसके तार आगरा और बरेली से जुड़े थे। इन लोगों ने मिल कर कई लोगों से लाखों रुपये की ठगी कर ली थी।

एप से करते हैं वीडियो कॉल रिकॉर्ड
आम तौर पर मैसेंजर और व्हॉट्सएप की वीडियो कॉल को रिकॉर्ड नहीं किया जा सकता लेकिन अब बाजार में तमाम तरह की एप्लीकेशन (एप) आ चुकी हैं, जिनसे आप वीडियो कॉल को भी रिकॉर्ड कर सकते हैं। पहले इस प्रक्रिया को पूरी करने के लिए अलग से रिकॉर्डर रखना पड़ता था। एंड्रॉयड और आईओएस (एप्पल) की वीडियो कॉल रिकॉर्ड करने के लिए अलग-अलग एप बाजार में उपलब्ध हैं। इन एप की खास बात यह है कि इसमें पुरानी रिकॉर्डिंग ऑटो डिलीट हो जाती है, जिससे फोन की मैमेरी भरती नहीं है। शातिर साइबर अपराधी रिकॉर्डिंग कर उसे हार्ड डिस्क में सेव कर लेते हैं या फिर अपने मोबाइल में ही रिकॉर्डिंग को लंबे समय तक संभाल कर रखने के लिए उसे इंपोर्टेंट मार्क भी कर लेते हैं ताकि वो ऑटो डिलीट न हो सके।

बस कुछ सेकेंड ही काफी हैं
अश्लील वीडियो चैट करने वाले कई गिरोह इन दिनों सक्रिय हैं। अगर आपके पास कोई अनजान नंबर या फेसबुक मैसेंजर से वीडियो कॉल आता है और आपके उस कॉल को उठा लिया लेकिन बात नहीं की और कुछ ही सेकेंड में कॉल काट दी। ये भी इन शातिरों के लिए काफी है। इतनी ही रिकॉर्डिंग इस गिरोह के लिए पर्याप्त होती है। इसी कॉल रिकॉर्डिंग को सार्वजनिक करने की धमकी देकर ये शातिर लोगों को ब्लैकमेल कर पैसा ऐंठते हैं। बदनामी के भय से लोग पैसा दे देते हैं। संजय प्लेस के एक कारोबारी, न्यू आगरा के दो युवाओं सहित ताजनगरी के आधा दर्जन लोग अब तक इस ट्रैप में फंस चुके हैं। इनके द्वारा एक्सपर्ट की सलाह ली गई है। इन सभी लोगों को ब्लैकमेल किया गया। एक युवा ने तो अपना एफबी अकाउंट ही डीएक्टीवेट कर दिया था। इन सभी की ओर से साइबर सेल पर भी शिकायत पहुंची है।

रिकॉर्डेड वीडियो का लेते सहारा
वीडियो कॉल में आने वाली युवती हर बार ऑनलाइन नहीं होती है। कई बार रिकॉर्डेड वीडियो भी ऑनलाइन दिखा कर चला दिया जाता है। लोग अश्लील हरकतों और उत्तेजक बातों के जाल में फंस जाते हैं। तमाम ऐसे मामले पुलिस के पास पहुंचे हैं। साइबर सेल की ओर से लगातार एडवाइजरी भी जारी होती रहती है। फिर भी तमाम लोग इस हनीट्रैप में फंस जाते हैं।

इंटरनेट पर अच्छे-बुरे सभी लोग हैं। सावधानी आपको ही बरतनी है। ऑनलाइन अनजान लोगों के संपर्क में न रहें। वीडियो कॉल तो कतई न उठाएं। कुछ सेकेंड की कॉल ही आपको बदनाम कर देगी। शातिर इस कुछ सेकेंड की कॉल को ही एडिट करके लंबा बना देते हैं। -रक्षित टंडन, आईटी एक्सपर्ट

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *