March 5, 2021
अंतर्राष्ट्रीय कारोबार राष्ट्रीय

इमरान को भारत से गुजरने की अनुमति

  • देश की मोदी सरकार ने दी पाक पीएम को अपना एयरस्पेस इस्तेमाल करने की इजाजत
  • अब इमरान सीधे जा सकेंगे श्रीलंका, दो साल पहले पाक ने रोका था मोदी को

भारत ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के विमान को अपने एयरस्पेस के इस्तेमाल की मंजूरी दे दी है। आज श्रीलंका रवाना हो रहे इमरान अब सीधे श्रीलंका पहुंच पाएंगे। अगर भारत एयरस्पेस इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देता तो इमरान के विमान को खासा घूमकर लंबे रास्ते से श्रीलंका पहुंचना पड़ता है। श्रीलंका ने पहले ही इमरान खान का संसद में प्रस्तावित भाषण रद्द कर दिया है। पाकिस्तानी मीडिया में इसे लेकर खूब हो-हल्ला मचा और आरोप लगाया गया कि भारत के दबाव में श्रीलंका ने ऐसा किया है।

2019 में पाकिस्तान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उड़ानों के लिए अपना एयरस्पेस खोलने से इनकार कर दिया था। तब पीएम मोदी को अमेरिका और सऊदी अरब जाना था। पाकिस्तान ने कश्मीर में कथित मानवाधिकार उल्लंघन को वजह बताया था। जबकि आमतौर पर वीवीआईपी एयरक्राफ्ट्स को अनुमति दे दी जाती है। भारत ने इसकी शिकायत इंटरनैशनल सिविल एविएशन ऑर्गनाइजेशन में की थी। दो साल बाद भारत चाहता तो वह भी इमरान के विमान को एयरस्पेस में घुसने की इजाजत देने से मना कर सकता था मगर उसने ऐसा नहीं किया।

इमरान खान को कोलंबो में श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे के साथ मुलाकात करनी है। इसके अलावा वह एक निवेशक सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे। उनके 24 फरवरी को श्रीलंका की संसद को संबोधित करने का कार्यक्रम था। हालांकि बाद में श्रीलंकाई मीडिया में ऐसी खबरें आईं कि इसे रद्द कर दिया गया।

श्रीलंका के डेली एक्सप्रेस ने विदेश सचिव जयनाथ कोलमबेज के हवाले से कहा कि स्पीकर महिंदा यापा अबेवदेर्ना ने कोविड-19 के मद्देनजर संबोधन रद्द करने का अनुरोध किया था। हालांकि, इसी अखबार ने अज्ञात सूत्रों का हवाला देते हुए कहा कि श्रीलंकाई सरकार के भीतर ऐसे तत्व थे, जो चाहते थे कि इमरान का भाषण नहीं हो क्योंकि उन्हें डर था कि ऐसा करने से भारत के साथ संबंध और भी खराब हो सकते हैं, क्योंकि कोलंबो बंदरगाह में ईस्ट कंटेनर टर्मिनल पर एक सौदा रद्द होने से पहले से ही संबंधों में कड़वाहट है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *