February 26, 2021
कारोबार पॉलिटिक्स राष्ट्रीय साक्षत्कार

किसान-सरकार के बीच केसी त्यागी मध्यस्थ?

नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों और सरकार के बीच बीते दो महीनों से गतिरोध जारी है। तमाम बैठकों और बातचीत के बावजूद केंद्र सरकार किसानों को मनाने में सफल नहीं हो पाई है। इस बीच जानकारी मिली है कि किसान यूनियन और अन्य लोग जेडीयू के वरिष्ठ नेता केसी त्यागी को केंद्र सरकार और किसानों के बीच बातचीत के लिए मध्यस्थ बनाने की बात कह रहे हैं।

एक टीवी न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान केसी त्यागी ने कहा है कि किसान और सरकार के बीच बातचीत का जरिया बनने से पहले पार्टी प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से विचार-विमर्श करना चाहूंगा। उन्होंने कहा कि अगर वह किसानों की मध्यस्थता करते हैं तो ये उनके लिए सम्मान की बात होगी। उन्होंने कहा कि वह किसान नेता चौधरी महेंद्र सिंह टिकैत के अनुयायी रहे हैं और उनके पुत्र राकेश टिकैत के प्रति उनकी सहानुभूति है। उन्होंने कहा किसानों की मांगों के प्रति संवेदनशील हूं।

नीतीश से विचार-विमर्श के बाद ही फैसला, पर यह सम्मान की बात-त्यागी

तीन नये कृषि कानूनों पर विपक्ष दलों के आरोपों के बीच कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि सरकार किसानों से जुड़े मुद्दों पर संसद के अंदर और बाहर चर्चा करने को तैयार है। विवादों में घिरे तीन नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, द्रमुक सहित अन्य विपक्षी पार्टियों के सदस्यों के भारी हंगामे के कारण लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही बाधित रही।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *