March 3, 2021
आगरा कारोबार पॉलिटिक्स

मेट्रो कोच की डिजायन दस दिन में

तीस किमी लंबे मेट्रो ट्रैक पर किस डिजायन के कोच दौड़ेंगे, इसकी डिजायन बनकर लगभग तैयार हो चुकी है। बस इसको अंतिम रूप दिया जा रहा है। इसी माह में कोच की डिजायन सार्वजनिक कर दी जाएगी। साथ ही दस फरवरी से मेट्रो के पहले स्टेशन के निर्माण के लिए पिलर खड़े करने का काम प्रारंभ कर दिया जाएगा।

यूपीएमआरसी के डीजीएम पंचानन मिश्रा ने बताया कि देश की अन्य मेट्रो परियोजनाओं से आगरा और कानपुर की मेट्रो अलग दिखाई देगी। दोनों ही स्थान पर ओएचई लाइन भूमिगत होने के कारण कोच की डिजायन में बदलाव किया गया है। डिजायन तैयार करने का काम 99 फीसदी पूरा हो चुका है। इन दिनों यूपीएमआरसी के इंजीनियर इस डिजायन को अंतिम रूप देने में लगे हुए हैं। दस से 15 दिन के अंदर मेट्रो रेल की डिजायन को सार्वजनिक कर दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि आगरा और कानपुर में ओएचई लाइन ट्रैक के साथ बिछाए जाने के टेंडर हो चुके हैं। पहले ओएचई लाइनें मेट्रो ट्रेन की छतों के ऊपर से गुजरती थी। इसलिए ट्रेनों की छतों को गोल बनाना पड़ता था। इसके कारण इसके निर्माण पर अधिक खर्च आता है। आगरा और कानपुर में ओएचई लाइन के स्वरूप में परिवर्तन किया गया है। इसके लिए तीसरी लाइन डाली जाएगी, जिस पर भूमिगत बिजली की लाइन डाली जाएगी। ओएचई लाइन नीची होने के कारण छतों की डिजाइन में बदलाव दिखेगा। इसके निर्माण में कम खर्च आने का अनुमान है।

खूबसूरत दिखेगी डिजायन
आगरा और कानपुर दोनों परियोजनाओं में मेट्रो के कोच की डिजाइन खूबसूरत दिखाई देगी। इसके लिए यूपीएमआरसी के प्रबंध निदेशक कुमार केशव इंजीनियरों के साथ लगातार वार्ता कर रहे हैं। दोनों ही स्थानों के लिए कोच की छतों को आकर्षक बनाया जाएगा। दूसरी ओर दोनों परियोजनाओं में लिफ्ट लगाने का टेंडर भी स्वीकृत हो चुका है। यह काम जॉनसन कंपनी को दिया गया है। कानपुर और आगरा मेट्रो के लिए कई नये प्रयोग किए जा रहे हैं, ताकि तेजी से काम के साथ ही निर्माण लागत को भी कम किया जा सके।
10 को पहला पिलर
यूपीएमआरसी के डीजीएम पंचानन मिश्रा ने बताया कि पाइलिंग काम पूरा होने के बाद अब मेट्रो के पहले निर्माणाधीन स्टेशन ताज पूर्वी गेट पर पिलर खड़े करने का काम दस फरवरी से प्रारंभ कर दिया जाएगा। इसकी पूरी तैयारी कर ली गई है। पिलर के लिए लोहे जाल बनाने का काम चल रहा है। इसी के साथ दूसरे स्टेशन बसई पर पाइलिंग का काम तेजी से चल रहा है। पांचवीं रिंग मशीन आने के बाद फतेहाबाद रोड मेट्रो स्टेशन के लिए पाइलिंग का काम प्रारंभ कर दिया जाएगा।
तेजी से बन रहा यार्ड
पीएसी ग्राउंड पर निर्माणाधीन मेट्रो के मुख्य यार्ड का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है। पूरे परिसर में बेरीकेडिंग का काम पूरा करने के बाद अब दीवार खड़ी करने का काम प्रारंभ कर दिया गया है। साथ ही पीएसी के लिए परेड ग्राउंड बनाने का काम लगभग पूरा हो चुका है। जल्द ही इसको पीएसी के सुपुर्द कर दिया जाएगा। मुख्य यार्ड में नौ मेट्रो को खड़ा करने के लिए ट्रैक बनाया जाएगा। यहां पर आधुनिक तकनीकि का वाशिंग प्लांट स्थापित किया जाएगा, ताकि रात्रि में मेट्रो ट्रेन को जल्द से जल्द धोया जा सके। यार्ड में मेट्रो ट्रेन की मरम्मत के लिए आधुनिक संसाधनों से लैस कार्यशाला का निर्माण किया जाएगा। साथ ही मुख्य द्वार का निर्माण किया जाएगा। यार्ड का निर्माण 18 माह में पूरा हो जाएगा।

कोच के डिजायन का काम 99 फीसदी हो चुका पूरा

60 पाइल तैयार
सात दिसंबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा आगरा मेट्रो परियोजना का उद्घाटन करने के बाद काम प्रारंभ किया गया था। शुरुआत में एक पाइल मशीन के जरिए पाइलिंग का काम प्रारंभ किया गया था। बाद में मशीनों की संख्या में बढ़ोत्तरी प्रारंभ की गई। इस समय तीन पाइल मशीन पाइलिंग के काम में दिन-रात लगी हुई हैं। चौथी पाइलिंग मशीन भी आ चुकी है। इसको असेम्बल किए जाने का कार्य चल रहा है। एक हफ्ते बाद यह मशीन भी कार्य करना प्रारंभ कर देगी। उद्घाटन के बाद काम प्रारंभ हुए करीब 60 दिन हो गए हैं। अभी तक 60 पाइल तैयार किए जा चुके हैं। यूपीएमआरसी के एक अधिकारी ने बताया कि आगरा मेट्रो परियोजना की गति अभी संतोषजनक नहीं है पर अब इसके निर्माण कार्य में तेजी आ जाएगी। पांचवीं पाइलिंग मशीन और मंगाई जा रही है, जो इसी माह में आ जाएगी। इसके बाद आगरा में बनने वाले तीनों एलिवेटेड मेट्रो स्टेशन के निर्माण कार्य में तेजी आ जाएगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *