March 3, 2021
आगरा नगर निगम

नगर निगम ने भी दी स्वच्छता रैंकिंग

  • होटल, अस्पतालों, स्कूल, सरकारी कार्यालयों, मार्केट, आरडब्ल्यूए में स्वच्छता का जायजा लेने के बाद दी रैंकिंग

केंद्र सरकार का शहरी विकास मंत्रालय जिस तरह पर आगरा समेत देश भर के शहरों का स्वच्छता के लिहाज से सर्वेक्षण करता है, ठीक उसी दर्ज पर नगर निगम ने विभिन्न कैटेगरी में आगरा के प्रतिष्ठानों का स्वच्छता सर्वेक्षण शुरू कर उन्हें रैंकिंग देना प्रारंभ किया है। यह कसरत इसलिए शुरू की गई है ताकि विभिन्न संस्थानों और प्रतिष्ठानों में स्वच्छता को लेकर प्रतिस्पर्धा पैदा हो। नगर निगम आगे भी इसी तरह की कसरत जारी रखकर रैंकिंग दिया करेगा। नगर निगम द्वारा हाल ही में जारी की गई रैंकिंग के अनुसार महानगर के होटलों में स्वच्छता के लिहाज से होटल जेपी पैलेस, होटल अमर और होटल मोती पैलेस को क्रमश: प्रथम, द्वितीय और तृतीय रैंकिंग दी गई है। अन्य वर्गों में दी गई रैंकिंग इस प्रकार है-

अस्पताल
पुष्पाजंलि हॉस्पिटल प्रथम, कृष्णा हॉस्पिटल द्वितीय और सिनर्जी हॉस्पिटल तृतीय। आरडब्लूए- भरतपुर हाउस रेजीडेन्सियएल वेलफेयर सोसायटी प्रथम, अमर विहार कॉलोनी द्वितीय और रामबाग समिति तृतीय।

स्वच्छ सरकारी कार्यालय
मंडलायुक्त कार्यालय प्रथम, आगरा विकास प्राधिकरण द्वितीय और आवास विकास परिषद कार्यालय तृतीय।

स्वच्छ मार्केट
अजीत नगर बाजार कमेटी प्रथम, ताज व्यापार मंडल द्वितीय और जोगीपाड़ा बाजार एसोसिएशन तृतीय।
स्वच्छ स्कूल
क्वीन विक्टोरिया प्रथम, एमडीजैन इंटर कॉलेज द्वितीय और आगरा पब्लिक स्कूल तृतीय।
एनजीओ
ग्रीन हैंड्स क्लब प्रथम, इंडिया राइजिंग द्वितीय और ईको फ्रेंड्स वेलफेयर सोसायटी तृतीय।
स्वयं सहायता समूह में सर्वोच्च रैंकिंग नीलम सिरसा के नाम रही है। नगर निगम ने स्वच्छता सर्वेक्षण में आॅनलाइन ड्राइंग प्रतियोगिता भी कराई, जिसमें तृप्ति बसंल को प्रथम, कनिष भारद्वाज को द्वितीय और दिशा अग्रवाल को तृतीय स्थान मिला। नगर निगम द्वारा विभिन्न वर्गों में दी गई इस स्वच्छता रैंकिंग को लेकर कुछ सवाल भी खड़े हुए। मसलन स्कूलों के मामले में कहा गया कि जिन्हें रैंकिंग दी गई है, उनसे भी बेहतर स्वच्छता वाले स्कूल शहर में हैं। इन सवालों के जवाब में नगर निगम के अधिशासी अभिंयता का कहना है कि हमने उन्हीं स्कूलों की रैंकिंग तय की है, जो सामाजिक सरोकार से जुड़ी गतिविधियों में जुड़े रहते हैं।

‘प्रथम, द्वितीय और तृतीय रैंकिंग पाने वाले सभी विजेताओं को हमने सर्टिफिकेट दिया है। इस पहल से लोगों में स्वच्छता के प्रति जागरूकता आएगी। जो होटल 100 किलोग्राम से अधिक बल्क निकालते हैं, उन्हें ही रैंकिंग की श्रेणी में रखा गया है।’

आशीष शुक्ला, अधिशासी अभियंता, नगर निगम

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *