February 24, 2021
Trending आगरा उत्तर प्रदेश ताजा राष्ट्रीय सेहत

नो एईएफआई, ‘ऑल इज वेल’

  • एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्युनाइजेशन टीम के पास एक भी शिकायत नहीं
  • कोविड वैक्सीन लगने के 72 घंटे बाद अब दिमाग से डर भी निकला
  • अब 22, 28 और 29 जनवरी को बड़े स्तर पर टीकाकरण की है तैयारी

वैक्सीन लगवाने के बाद हम अपने रुटीन की तरह जी रहे हैं। हमें तो कोई समस्या नहीं आई। दिमाग में जो डर था वह भी जाता रहा बल्कि सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। जिन लोगों ने 16 जनवरी को कोरोना वैक्सीन लगवाई है, उनमें से अधिकांश यही कह रहे हैं।

जिले में 16 जनवरी को छह केंद्रों पर 361 स्वास्थ्य कर्मियों को कोविशील्ड के टीके लगाए गए थे। राहत की खबर ये है कि इनमें से किसी को भी कोई बड़ी दिक्कत सामने नहीं आई है। कुछ मामलों में हल्का बुखार और थकान जरूर रही, लेकिन यह स्वाभाविक है। टीकाकरण के बाद विपरीत प्रभावों से निपटने के लिए एडवर्स इवेंट फॉलोइंग इम्युनाइजेशन (एईएफआई) के डॉक्टरों की टीम नियुक्त की गई थी, लेकिन कोई भी एईएफआई दर्ज नहीं हुई है। एसएन मेडिकल कॉलेज में क्षय एवं वक्ष रोग विभाग के अध्यक्ष डा. संतोष कुमार ने बताया कि उन्होंने 16 जनवरी को कोरोना का टीका लगवाया था। टीकाकरण के 72 घंटे बाद भी उन्हें कोई समस्या नहीं हुई है और वे पहले की तरह ही अपनी ड्यूटी कर रहे हैं।

जिला अस्पताल के अधीक्षक डा. सीपी वर्मा ने बताया कि उन्होंने अपने अस्पताल में सबसे पहले वैक्सीन लगवाई, उनके साथ सिलसिलेवार 79 लोगों ने टीके लगवाए। अधिकांश को हल्के बुखार के अलावा कोई परेशानी नहीं हुई। सरकार की ओर से बुखार आने पर पैरासीटामोल लेने के निर्देश हैं, तो अगर हल्का बुखार होता भी है तो पैरासीटामोल सुरक्षित है।

वहीं 16 जनवरी को वैक्सीन लगवाने वाले रामनिवास, राममूर्ति ने कहा कि कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद उन्हें भी कोई समस्या नहीं हुई है बल्कि कोरोना का जो दिमाग में डर था वह भी कम हुआ है। पहले से ज्यादा सुरक्षित महसूस कर रहे हैं। यह सभी लोग अब अन्य लोगों से भी अपनी बारी आने पर टीका लगवाने का आग्रह कर रहे हैं।  सीएमओ डा. आरसी पांडे ने बताया कि अब 22, 28 और 29 जनवरी को बड़े स्तर पर टीकाकरण की तैयारी है। इन तीन दिनों में 37 केंद्रों पर 11100 स्वास्थ्य कर्मियों को टीके लगाए जाएंगे। एक दिन में एक केंद्र पर 100 और 37 केंद्रों पर 3700 टीके लगाए जाएंगे।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *