May 9, 2021
आगरा शिक्षा

फीस नहीं तो परीक्षा भी नहीं- अप्सा

  • शहर के शिक्षण संस्थानों की प्रमुख संस्था अप्सा का फैसला, बिना टीसी के एडमिशन भी नहीं
  • संगठन में शामिल हैं 45 सीबीएसई व आईसीएसई स्कूल, हजारों विद्यार्थी हैं अध्ययनरत

शहर के शिक्षण संस्थाओं की प्रमुख संस्था एसोसिएशन ऑफ प्रोग्रेसिव स्कूल्स ऑफ आगरा (अप्सा) ने फीस जमा करने के मुद्दे पर महत्वपूर्ण फैसला लिया है। संस्था का कहना है कि जो सक्षम विद्यार्थी फीस जमा नहीं कर रहे, उन्हें परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा। टीसी भी नहीं मिलेगी।

संस्था की ओर से जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा गया है कि संस्था से जुड़े स्कूलों द्वारा अपने स्तर से महामारी के दौरान काफी काम किया गया है। अब अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर आने लगी है, ऐसे में जो अभिभावक सक्षम हैं, उनमें से भी कई लोग फीस जमा नहीं कर रहे। संस्था इसकी घोर निंदा करती है। अध्यक्ष सुशील गुप्ता के अनुसार बिना पूरी फीस लिए अभिभावकों के बच्चों को वार्षिक परीक्षा में बैठने नहीं दिया जाएगा। ऐसे सक्षम अभिभावकों की प्रशासन से शिकायत व कानूनी कार्रवाई भी की जाएगी। साथ ही यह भी निर्णय लिया गया है कि टीसी के बिना कोई भी स्कूल बच्चे का एडमिशन नहीं लेगा। सचिव डॉ. गिरधर शर्मा व कोषाध्यक्ष प्रद्युम्न चतुर्वेदी का कहना है कि संस्था की ओर से महामारी के इस दौर में समाजसेवा की गई। विद्यार्थियों की ऑनलाइन पढ़ाई भी जारी रही।

नप्सा भी इस फैसले के साथ
अप्सा के साथ ही जिले के स्कूलों की एक अन्य संस्था नप्सा ने भी इस फैसले का स्वागत किया है। अध्यक्ष संजय तोमर के अनुसार फीस के बिना स्कूलों का संचालन कैसे किए जाएगा। सक्षम अभिभावकों को फीस भरनी चाहिए। सीबीएसई ने भी विद्यार्थियों से बोर्ड फीस जमा करवाई है तो फिर स्कूलों को फीस क्यों नहीं दी जा रही है।

पापा संस्था ने किया विरोध
अभिभावकों के अधिकारों के लिए लड़ रही संस्था पापा ने इस फैसले का विरोध किया है। उनका कहना है कि तमाम अभिभावक फीस देने की स्थिति में नहीं है, उनकी रियायत मिलनी चाहिए। शिक्षा के अधिकार से किसी को वंचित नहीं किया जा सकता। जल्द ही इस मुद्दे पर बैठक बुलाई जाएगी।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *