February 26, 2021
आगरा ताजा नगर निगम

अब डलाबघरों पर भी लगेंगे सीसीटीवी कैमरे

  • क्यूआर कोड के जरिए पहले किसी एक वार्ड में उठेगा 100 फीसदी कूड़ा
  • मंडलायुक्त हेल्थ सेंटर पर कम मरीज आने से नाखुश, कहा प्रचार करो

पदभार संभालने के बाद मंडलायुक्त अमित गुप्ता व्यवस्थाओं पर सीधी पकड़ रखने के लिए ताबड़तोड़ निरीक्षण कर रहे हैं। उनके इस रूख को देख अधिकारियों और कर्मचारियों में खलबली है। निरीक्षण भी वह केवल औपचारिकता निभाने के लिए नहीं बल्कि वहां पर एक-एक चीज को बारीकि से देखने के साथ ही अधिकारियों के पेंच कसने से नहीं चूक रहे हैं। पिछले दिनों स्मार्ट सिटी के तहत चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण के बाद मंडलायुक्त स्मार्ट सिटी लिमिटेड के कार्यालय पहुंच गए। उन्होंने वहां पर स्मार्ट सिटी के तहत होने वाले कार्यों की जानकारी ली। साथ ही मानचित्र का भी अवलोकन किया।

मंडलायुक्त को देख वहां तैनात अधिकारी व कर्मचारी हरकत में आ गए। उन्होंने कार्यालय में स्थापित स्मार्ट हेल्थ सेंटर व इन्टीग्रेटेड कन्ट्रोल एण्ड कमाण्ड सेन्टर का भी निरीक्षण किया। हेल्थ सेंटर की चिकित्सकीय व्यवस्थाओं और सुविधाओं को परखने के लिए मंडलायुक्त गुप्ता ने खुद ही खून की जांच कराकर देखा। सीवीसी (कम्पलीट ब्लड काउंट) की रिपोर्ट आज आ जाएगी। हेल्थ सेंटर की व्यवस्थाओं को देख मंडलायुक्त प्रभावित हुए पर वहां पर मरीजों की संख्या में कमी से खुश नजर नहीं आए। उन्होंने प्रतिदिन आने वाले मरीजों से संबंधी रजिस्टर का अवलोकन करने के बाद अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे हेल्थ सेंटर का व्यापक प्रचार-प्रसार कराएं, ताकि अधिक से अधिक लोगों को हेल्थ सेंटर द्वारा सस्ता इलाज और दवाओं का लाभ दिया जा सके। हालांकि कोविड-19 के चलते हुए लॉक डाउन के दरम्यान हेल्थ सेंटर की बेहतर सेवाओं से लोगों को काफी राहत मिली थी।

नगर निगम परिसर स्थित स्मार्ट सिटी के कार्यालय में स्मार्ट आगरा के मानचित्र का अवलोकन करते मंडलायुक्त अमित गुप्ता। फोटो- एनएस

इन्टीग्रेटेड कन्ट्रोल एण्ड कमाण्ड सेन्टर के निरीक्षण के दौरान मंडलायुक्त गुप्ता को नगर आयुक्त टीकाराम फुंडे ने शहर में लगाये गये सीसीटीवी कैमरे, यातायात व्यवस्था, ई-चालान, पैनिक बटन, ठोस कूड़ा प्रबन्धन, गो-लाइव एवं जीआईएस आदि की विस्तृत जानकारी दी। जानकारी लेने के साथ ही मंडलायुक्त ने चालान के सापेक्ष वसूली बहुत कम पाए जाने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने वसूली पर विशेष ध्यान देने को कहा। साथ ही कहा कि ई-चालान की सूचना सम्बन्धित व्यक्ति को एसएमएस के साथ ही व्हाट्सएप एवं अन्य माध्यमों से दिये जाने की व्यवस्था विकसित की जाए। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति बार-बार यातायात नियमों का उल्लंघन करते हैं, उनको सतर्कता के साथ ट्रेस कर आवश्यक कार्यवाही की जाए।

मंडलायुक्त गुप्ता को ठोस कूड़ा प्रबन्धन के अन्तर्गत घरों पर लगाए गए आरएफआईडी क्यूआर कोड की जानकारी दी गयी। इस पर उन्होंने अधिकारियों को सलाह दी कि पहले किसी एक वार्ड में क्यूआर कोड के तहत कूड़े का शत-प्रतिशत उठान सुनिश्चित किया जाए। इसके बाद इस योजना को विस्तारित किया जाए। मंडलायुक्त ने नगर आयुक्त को निर्देश दिए कि शहर के डलाबघरों पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएं, ताकि कूड़ा उठान की निगरानी की जा सके। उन्होंने प्रदूषण लेवल की मानीटरिंग के लिये लगाए गये सेंसर की भी जानकारी प्राप्त की।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *