February 25, 2021
अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय सरकार

हिंद महासागर में भारत की ताकत से डरा पाक

एक ओर जहां चीन पश्चिमी देशों को दक्षिण चीन सागर में अपनी शक्ति दिखाता रहता है, हिंद महासागर में पाकिस्तान के साथ मिलकर भारत को घेरने की कोशिश में भी है। हालांकि, भारत ने यहां अपनी स्थिति मजबूत कर रखी है जो पाकिस्तान के लिए चिंता का सबब बना हुआ है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के ताजा बयान से पड़ोसी देश की यह चिंता जाहिर भी हो गई है। कुरैशी ने कहा कि दक्षिण एशिया में किसी भी तरह का सैन्य गतिरोध क्षेत्रीय स्थिरता को खतरे में डाल सकता है। विदेश मंत्री ने आरोप लगाया कि भारत ने हिंद महासागर को परमाणु हथियारों की जद में ला दिया है और वह उन्नत शस्त्र प्रणाली और नौसेना साजो सामान जुटाने में लगा हुआ है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान हिंद महासागर सुरक्षा क्षेत्र का अहम पक्षकार है, जिसमें समुद्री डाकुओं के खिलाफ कार्रवाई के साथ-साथ मानव तस्करी और नशीले पदार्थों की तस्करी जैसे मुद्दे शामिल हैं।

चिंता जाहिर करते हुए पाक विदेशमंत्री ने कहा, भारत ने हिंद महासागर को परमाणु हथियारों की जद में ला दिया है

कुरैशी का कहना है कि यह क्षेत्र वैश्विक व्यापार प्रवाह और सुरक्षा के लिहाज से महत्वपूर्ण है। कुरैशी ने कराची में नौवें अंतरराष्ट्रीय नौवहन सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि हिंद महासागर आपसी सहयोग और समन्वय के लिए आशाजनक संभावनाएं प्रदान करता है। उन्होंने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय समुदाय को इस तथ्य का संज्ञान लेने की आवश्यकता है कि दक्षिण एशिया में किसी भी तरह का सैन्य गतिरोध क्षेत्रीय स्थिरता को खतरे में डाल सकता है जो वैश्विक व्यापार प्रवाह और सुरक्षा के लिहाज से महत्वपूर्ण है।  पिछले साल दिसंबर में रक्षा वेबसाइट द ड्राइव की रिपोर्ट में दावा किया गया था कि इंडोनेशिया के पास समुद्र के अंदर मछुआरों को एक खुफिया चीनी ड्रोन मिला था। इससे अंदाजा लगाया गया था कि ड्रैगन अब अपनी किलर पनडुब्बियों को दुनिया के इस बेहद महत्वपूर्ण समुद्री इलाके में उतारने की तैयारी कर रहा है। दरअसल, युद्ध की सूरत में अगर भारतीय और अमेरिकी नौसेना मलक्का स्ट्रेट का रास्ता बंद कर देती हैं तो चीन के पास सूंडा स्ट्रेट और लोमबोक स्ट्रेट के जरिए हिंद महासागर में घुसने का विकल्प मौजूद रहेगा।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *