March 5, 2021
Trending कारोबार ताजा राष्ट्रीय सरकार

आरबीआई गवर्नर ने सरकार से टैक्स कम करने को कहा पेट्रोल और डीजल की कीमतें घटाओ

पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम करने के लिए अब सरकार के अंदर से भी आवाजें उठने लगी हैं। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान के बाद अब रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया (आरबीआई) के गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी टैक्स घटाकर कीमतों को काबू करने का संदेश दिया है। वैसे पेट्रोल और डीजल की कीमतों में आज फिर वृद्धि की गई है लेकिन समझा जाता है कि केंद्र सरकार जल्द ही इस दिशा में कोई ठोस फैसला लेगी और बढ़ते दामों को नियंत्रित करने के लिए कदम उठाएगी।

आरबीआई मॉनिटरी पॉलिसी के मिनट्स में शक्तिकांत दास ने केंद्र और राज्य सरकार से अपील की है कि वो इनडायरेक्ट टैक्स में कटौती करें ताकि पेट्रोल-डीजल की कीमतें घटाईं जा सकें। उनका कहना है कि पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों से अर्थव्यवस्था पर भी दबाव पड़ने लगा है। ऐसे में धीरे-धीरे टैक्स को घटाना होगा। आरबीआई मिनट्स में कहा गया है कि दिसंबर में रीटेल महंगाई दर खाद्य और ईंधन को हटाने के बावजूद 5.5 परसेंट के ऊपर रहीं हैं, क्योंकि कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों और पेट्रोल-डीजल पर ऊंचे इनडायरेक्ट टैक्स की वजह से मुख्य सामानों और सेवाओं की महंगाई बढ़ गई। इसमें से ट्रांसपोर्ट और स्वास्थ्य सेवाएं खास तौर पर शामिल हैं।

इसके पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी पेट्रोल-डीजल की कीमतों को कम करने के लिए इसे जीएसटी के दायरे में लाने की बात कही थी। उन्होंने कहा कि इस मुद्दे पर जीएसटी काउंसिल में केंद्र और राज्य सरकारों को बैठकर बात करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि स्लैब्स को तर्कसंगत बनाने के बारे में सोचना चाहिए। उन्होंने कहा कि ये एक अफसोसनाक मुद्दा है, जिसका जवाब कीमतें कम करने से किसी को भी मंजूर नहीं होगा। अगर आज की कीमतों की तुलना ठीक साल भर पहले की कीमतों से करें तो 23 फरवरी 2020 को दिल्ली में पेट्रोल का रेट 72.01 रुपये प्रति लीटर था, यानी साल भर में पेट्रोल 18.92 रुपये प्रति लीटर महंगा हो चुका है। डीजल भी 23 फरवरी 2020 को 64.70 रुपये प्रति लीटर था, यानी डीजल भी साल भर में 16.62 रुपये प्रति लीटर महंगा हो गया है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *