March 2, 2021
अंतर्राष्ट्रीय कारोबार राष्ट्रीय सेहत

तीन ग्लोबल इमरजेंसी पर तत्काल तत्परता दिखाएं

कई देशों में कोविड के टीके आ जाने के बावजूद दुनिया भर में कोरोना का संकट अभी पूरी तरह से टला नहीं है। विश्व अभी भी कई तरह के संकटों एवं चुनौतियों से जूझ रहा है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरस ने इनमें से तीन प्रमुख ग्लोबल इमरजेंसी को चिन्हित कर उन पर तत्काल ध्यान केंद्रित करने का विश्व समुदाय का आह्वान किया है।

न्यूयॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र के मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुटेरस ने कहा कि आज हम जिन चुनौतियों का सामना कर रहे हैं, उनमें तीन ऐसे ग्लोबल एमरजेंसी हैं जिन पर तत्काल ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है।यूएन महासचिव ने कहा कि पहली ग्लोबल इमरजेंसी कोविड महामारी से लड़ने के लिए वैक्सीन वितरण है। अब तक सात करोड़ लोगों को कोविड की वैक्सीन लगाई जा चुकी है, लेकिन इनमें 20 हजार से भी कम लोग अफ्रीकी महाद्वीप के हैं। वैश्विक स्तर पर यह जो असंतुलन है वह सबके लिए संकट का सबब बन सकता है।

उन्होंने कहा कि वैक्सीन राष्ट्रवाद एक आर्थिक और नैतिक नाकामी है। यद्यपि हर देश का यह दायित्व है और कर्तव्य भी कि वह अपने नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करे, लेकिन साथ ही यह भी है कि कोई भी देश अन्य देशों की अनदेखी नहीं कर सकता है। गुटेरस ने बताया कि दूसरी ग्लोबल इमरजेंसी यह है कि उन देशों को तत्काल आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाए, जिन्हें इसकी सख्त जरूरत है। उन्होंने कहा कि निजी हित को सर्वोपरि रखने का आशय यह कतई नहीं कि हम बिल्कुल अकेले पड़ जाएं।

गुतेरस ने जलवायु संकट को तीसरा ग्लोबल इमरजेंसी बताया। उन्होंने कहा कि हमारे पास अभी यह अवसर है कि हम प्रकृति को लेकर औचित्यहीन संघर्षों को समाप्त करें और नैदानिक प्रक्रियाओं को शुरू करें।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *