February 27, 2021
कारोबार राष्ट्रीय लाइफ स्टाइल

टूरिज्म इंडस्ट्री ने सरकार से आयकर में छूट मांगी

कोविड-19 महामारी के कई उद्योगों पर बुरी मार पड़ी है। टूरिज्म इंडस्ट्री भी इनमें से एक है। कोरोना के कारण अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर पाबंदी लगी हुई है और घरेलू पर्यटन भी पूरी तरह पटरी पर नहीं लौटा है। इससे टूरिज्म इंडस्ट्री में लाखों लोग गहरे संकट का सामना कर रहे हैं। इंडस्ट्री ने सरकार से कर व्यवस्था की समीक्षा करने और पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए जीएसटी दरों में कटौती करने की मांग की है। साथ ही इंडस्ट्री ने घरेलू पर्यटकों को 1.5 लाख रुपये तक के पैकेज पर इनकम टैक्स में छूट देने की भी मांग की है।

एसोसिएशन ऑफ डोमेस्टिक टूर ऑपरेटर्स ऑफ इंडिया के प्रेजिडेंट पीपी खन्ना ने कहा कि पर्यटन उद्योग गहरे संकट में है। लाखों लोगों के सामने भूखों मरने की नौबत आ गई है। उन्होंने कहा कि टूरिज्म इंडस्ट्री को बचाने के लिए सरकार को कर ढांचे की समीक्षा करने की जरूरत है। जीएसटी में छूट दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि रजिस्टर्ड और एप्रूव्ड ट्रैवल एजेंटों को कर में छूट और प्रोत्साहन देने की जरूरत है।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *